कुशीनगर: पर्यावरण संरक्षण के लिए इस बार जिले में आबादी के हिसाब से पौधे लगाए जाएंगे। पौधारोपण कार्य की जिम्मेदारी संबंधित विभागों की होगी। वह खाली पड़ी सरकारी भूमि पर पौधा लगवाने का काम करेंगे। सितंबर तक 28 लाख से अधिक पौधे रोपित कर लिए जाएंगे। इसमें 10 लाख से अधिक अकेले वन विभाग लगाएगा। शेष पौधों के रोपण की जिम्मेदारी अन्य सरकारी विभागों की होगी। गोरखपुर के बाद मंडल में सर्वाधिक पौधे कुशीनगर में लगाए जाएंगे। यह पौधे बुद्ध की धरा पर हरियाली का गीत गाएंगे और पर्यावरण संरक्षण का संदेश देंगे।

धरती को हरा-भरा बनाने की वन विभाग की कवायद चल रही है। इस वर्ष जिले में 28 लाख 76 हजार 610 पौधे रोपित करने का लक्ष्य है। वन विभाग पर 10 लाख 62 हजार 910 पौधे लगाने की जिम्मेदारी है, जबकि अन्य सरकारी विभाग पंचायती राज, शिक्षा, राजस्व विभाग, पुलिस, रेलवे, नगर पालिका, ग्राम विकास, उद्यान, आदि मिलकर 18 लाख 13 हजार 700 पौधे लगाएंगे। पौधे छायादार व फलदार होंगे। लक्ष्य को लेकर संबंधित विभागों ने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। पौधे जुलाई से सितंबर तक लगाए जाएंगे। इस बार गोरखपुर मंडल में एक करोड़ 17 लाख 14 हजार 10 पौधे लगाए जाएंगे। मंडल में शामिल जिले व पौधों का लक्ष्य

गोरखपुर-36 लाख 36 हजार 340

कुशीनगर-28 लाख 76 हजार 610

देवरिया-26 लाख 22 हजार 390

महराजगंज-25 लाख 78 हजार 670

डीएफओ बीसी ब्रह्मा ने कहा है कि

जिले की आबादी को देखते हुए लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रयास है कि जनपद का हर दूसरा व्यक्ति पौधारोपण जरूर करे। ग्रामीण व नगरीय क्षेत्रों में इसको लेकर आवश्यक तैयारियां लगभग पूरी कर ली गईं हैं। गड्ढों की खोदाई का कार्य जल्द शुरू होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस