कुशीनगर: जिले के सेवरही विकास खंड के तीन गांवों में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अंतर्गत 1054 शौचालयों का बिना निर्माण कराए 40 लाख 20 हजार रुपये निकालने के मामले में जिला विकास अधिकारी शेषनाथ चौहान ने गुरुवार को ग्राम विकास अधिकारी शैलेश शाही को निलंबित कर दिया। साथ ही फाजिलनगर ब्लाक से संबद्ध करते हुए बीडीओ को जांच अधिकारी नामित कर 15 दिन में रिपोर्ट तलब की है।

डीपीआरओ आरके द्विवेदी की जांच में सेवरही ब्लाक के गांव सलेमगढ़, मुकुंदपुर व हफुआ जीवन में शौचालय निर्माण के नाम पर संपूर्ण धनराशि खाते से निकालने का मामला संज्ञान में आया था। जांच में सभी शौचालय अधूरे पाए गए थे। इसको लेकर नोटिस जारी की गई लेकिन ग्राविअ ने जवाब नहीं दिया। यही नहीं लगभग 414 शौचालयों का सत्यापन भी नहीं कराया। इससे साफ प्रतीत होता है कि सरकारी धन का दुरुपयोग किया गया है। डीडीओ ने कहा कि आरोप पत्र मिलने के बाद अगली कार्रवाई की जाएगी।