कुशीनगर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह उत्तर प्रदेश के लिए सौभाग्य की बात है कि बुधवार को पीएम नरेन्द्र मोदी के हाथों प्रदेश के तीसरे अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का उद्घाटन होगा। यह पूर्वी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी बिहार के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।

मुख्यमंत्री मंगलवार को महापरिनिर्वाण बुद्ध मन्दिर परिसर में पीएम के कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। कहा कि यहां पर्यटन की असीम संभावनाएं है। इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। बुद्ध से जुड़े अधिकांश पावन स्थल उत्तर प्रदेश में हैं। आजादी के बाद जिस बेहतर क्षमता से इसका उपयोग होना चाहिए था वह नहीं हो सका। सीएम ने कहा कि हम पीएम के आभारी हैं कि उन्होंने बौद्ध परिपथ में पर्यटन की सभी संभावनाओं को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। बुधवार को श्रीलंका के उच्च स्तरीय डेलीगेट्स बुद्ध के धातु अवशेष के साथ कुशीनगर आएंगे। इससे कुशीनगर में पर्यटन विकास की संभावनाएं बढ़ेंगी। उनके स्वागत का अवसर उत्तर प्रदेश सरकार और कुशीनगर के लोगों को मिलेगा। अतिथि देवो भव की हमारी परंपरा रही है। हम उनके स्वागत को लेकर प्रफुल्लित हैं। एयरपोर्ट न केवल श्रीलंका बल्कि दक्षिणी-पूर्व एशिया के बौद्ध देशों को सीधे जोड़ने का कार्य करेगा। साथ ही मित्र राष्ट्र नेपाल भी एयरपोर्ट से जुड़ेगा, जो अंतरराष्ट्रीय संबंधों को और मजबूती प्रदान करेगा। कहा कि यह उड़ान योजना विकास की उड़ान है। अब हवाई चप्पल पहनने वाले लोग भी हवाई जहाज की यात्रा कर सकेंगे। प्रदेश में इसके साक्षात दर्शन होंगे। वर्तमान में प्रदेश में सर्वाधिक आठ एयरपोर्ट क्रियाशील हैं। कुशीनगर एयरपोर्ट से उड़ान विकास, रोजगार व आवागमन के साथ जुड़ जाएगा। बुद्ध का व्यक्तित्व विराट था। उसके साथ यहां के लोगों को जोड़ने का अवसर प्राप्त होगा। एयरपोर्ट के साथ अन्य योजनाओं का भी शिलान्यास व उद्घाटन होगा। कुशीनगर मेडिकल कालेज का भी शिलान्यास होगा। पिछले सात वर्षों में देश की स्वास्थ्य सेवाओं में बेहतर सुधार हुआ है। साढ़े चार वर्षों में प्रदेश में 33 मेडिकल कालेजों की स्थापना हुई है। इसमें कुशीनगर का मेडिकल कालेज भी शामिल है। पीएम द्वारा 25 अक्टूबर को नौ मेडिकल कालेजों का संचालन शुरू किया जाएगा। इसमें नए सत्र से एमबीबीएस की कक्षाएं भी चलेंगी।

Edited By: Jagran