कुशीनगर: सीओ रामकृष्ण तिवारी ने तरयासुजान थाने पर गुरुवार को प्रेसवार्ता में सलेमगढ़ पंजाब नेशनल बैंक के एक खाते से तीन दिन पूर्व करीब चार लाख रुपये निकाले जाने के मामले का पर्दाफाश किया। मामले में पुलिस ने एक महिला समेत चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। सीओ ने बताया कि उक्त बैंक शाखा के खाताधारक ममता देवी पत्नी संतोष के खाते से फर्जीवाड़ा कर उक्त राशि का आहरण कर लिया गया था। तफ्तीश के दौरान सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस को सुमन्त कुमार पुत्र अवधेश, सोनू पटेल पुत्र सुरेन्द्र पटेल, अमित पटेल पुत्र मुकेश पटेल सभी निवासी ग्राम सलेमगढ़ छावनीपुर थाना तरयासुजान व युवती परिराज उर्फ दीपा मगर पुत्री दिलीप मगर, निवासी बारी बासा, थाना भक्तिनगर जनपद न्यू जलपाईगुड़ी, पश्चिम बंगाल हाल मुकाम पाठक मार्केट सलेमगढ़ बाजार थाना तरयासुजान संदिग्ध लगे। पुलिस ने उक्त अभियुक्तों की टोह में मुखबिर लगाया। गुरुवार की सुबह पुलिस को थानाक्षेत्र कर तरयलच्छीराम चौराहे पर उक्त संदिग्धों के मौजूद होने की सूचना मिली। एसओ विनय कुमार पाठक, एसआई भीखू राय, महिला एसआई कुमुद ¨सह, एचसीपी श्रीकृष्ण ¨सह, चंद्रशेखर ¨सह, कमलेश ¨सह, पंकज ¨सह, अमरेश प्रताप ¨सह, महिला कांस्टेबिल सुनीता यादव की टीम ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। तलाशी में उनके पास 75 हजार रुपये नगद, एक मोटरसाइकिल, एक स्कूटी, पासबुक, एटीएम कार्ड व चार एंड्रायड मोबाइल बरामद हुआ। कड़ाई से पूछताछ की तो अभियुक्तों ने मामले में संलिप्तता स्वीकार की। घटना का मास्टर माइंड सुमंत है जो दीपा के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रहता है। सीओ ने बताया कि एसपी राजीव नारायण मिश्र व एएसपी हरगो¨वद मिश्र गुडवर्क के लिए पुलिस टीम को पुरस्कृत करने का निर्णय लिया है।

Posted By: Jagran