कुशीनगर: शासन द्वारा क्षय रोग के नियंत्रण के लिए चलाए जा रहे एसीएफ कार्यक्रम के तहत स्वास्थ्य विभाग के कर्मी गांवों में जाकर टीबी के मरीजों की खोजबीन कर रहे हैं। क्षेत्र में पांच मरीजों को चिह्नित किया गया है। बुधवार को एक मरीज को पीएचसी के प्रभारी चिकित्साधिकारी ने दवा खिला कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। विभागीय अधिकारियों द्वारा घोषित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के स्वास्थ्यकर्मियों की टीमें खड्डा ब्लाक के सिसवा गोपाल, सारंग छपरा, सोहरौना, कोप जंगल, लंगड़ी विशुनपुरा व मठिया आदि गांवों में घर-घर जाकर टीबी के मरीजों की खोजबीन कर रही है। प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. उमाशंकर नायक के मुताबिक सरकार द्वारा विशेष कार्यक्रम चलाया जा रहा है। 11 जून 2018 से ही स्वास्थ्यकर्मियों की टीम घर-घर जा रही है। क्षय रोग (टीबी) के लक्षण वाले मरीजों का सैंपल एकत्र कर जांच कराई जा रही है। जांच के बाद क्षेत्र में पांच मरीजों को चिह्नित किया गया है। डा. नायक ने एक मरीज को टीबी की दवा देकर दवा वितरण का शुभारंभ किया। इस दौरान एलटी गिरीशचंद्र श्रीवास्तव, अमित श्रीवास्तव, जीसी श्रीवास्तव, अजय, सुहेल अख्तर आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस