जासं, कौशांबी : कोखराज थाना क्षेत्र के ¨सधिया गांव में भूमि विवाद की रंजिश को लेकर दो पक्षों में जमकर लाठी चली। मारपीट में दोनों तरफ से कुल 11 लोग घायल हुए। लहूलुहान हालत में सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई है। हालांकि अभी तक तहरीर न मिलने के कारण केस नहीं दर्ज हो सका है।

¨सधिया निवासी केदारनाथ का गांव के ही मक्खन लाल से भूमि विवाद की रंजिश चली आ रही है। इसे लेकर कई बार दोनों पक्ष आमने-सामने आ चुके हैं। सोमवार की दोपहर भी दोनों पक्ष के बीच कहासुनी हुई। देखते ही देखते दोनों तरफ से लाठी और कुल्हाड़ी लेकर लोग आ गए और एक दूसरे से मारपीट करने लगे। घटना में केदारनाथ समेत उसके पक्ष से भानु प्रसाद, निर्मला देवी, गौरव, व संजना और दूसरे पक्ष से रामसेवक, सुरेश, अभिषेक, ज्ञानमती, पूजा व मक्खन लाल गंभीर रूप से घायल हो गए। ग्रामीणों ने पहुंचकर बीच बचाव किया और मामला शांत कराया। मामले की सूचना पुलिस को दी गई और घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद दोनों पक्षों में तनाव की स्थिति बनी हुई है।

भूमि विवाद में भाई बहन समेत मां को बेरहमी से पीटा

जासं, कौशांबी : मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के गौरा ओसा गांव में भूमि विवाद की रंजिश को लेकर हमलावरों ने भाई-बहन समेत मां को बेरहमी से पीटा। ग्रामीणों के ललकारने पर हमलावर धमकी देते हुए भाग निकले। मामले की शिकायत पुलिस से की गई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इस पर पीड़ित परिवार ने एसपी से गुहार लगाई।

गौरा ओसा निवासी राज मौर्य मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करता है। उसका गांव के एक व्यक्ति से भूमि विवाद की रंजिश चली आ रही है। इसे लेकर अक्सर विवाद की स्थिति बनी रहती है। रविवार की शाम राज घर पर मौजूद नहीं था। उसकी पत्नी देवकली बाहरी चबूतरे पर बैठी हुई थी। इस बीच विपक्षी अपने आधा दर्जन साथियों के साथ लाइसेंसी बंदूक लेकर राज मौर्य के घर पहुंचा और गाली गलौज करने लगा। देवकली ने विरोध किया तो हमलावरों ने उसकी जमकर पिटाई की। बीच-बचाव करने आई बेटी रूबी व बेटा रवि को भी हमलावर ने जमकर पीटा। ग्रामीणों के ललकारने पर हमलावर धमकी देते हुए भाग निकले। सोमवार की सुबह देवकली ने मामले की शिकायत कोतवाली पुलिस की लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इस पर उसने एसपी गुहार लगाई। उन्होंने इंस्पेक्टर को जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

Posted By: Jagran