कौशांबी । नेवादा विकास खंड के सेंवथा गांव की दलित बस्ती में जलभराव की स्थित बनी है। गांव के लिए बनी मंडी परिसर की सड़क बस्ती से ऊंची बनने व जल निकासी की व्यवस्था न होने के कारण यह समस्या आई है।

दो दिनों से हो रही बारिश जहां खेती के लिए अच्छी है, वहीं दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्र में लोगों को इस बारिश से समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। नेवादा विकास खंड के सेंवथा गांव की दलित बस्ती में जलभराव है। ग्रामीणों ने बताया कि इस इस समस्या को लेकर वह तीन बार तहसील दिवस में शिकायत कर चुके हैं। इसके बाद समस्या के निस्तारण के लिए डीपीआरओ ने गांव का निरीक्षण किया। संबंधित कर्मचारियों को जल निकासी की व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया। इसके बाद भी इस समस्या से निजात नहीं मिल रही है। दो दिनों से हो रही बारिश में गांव के मानिकचंद्र, संतलाल, रामसेवक, लक्ष्मण सहित करीब आधा दर्जन लोगों के घरों में पानी भर गया। इसके साथ ही गांव के रोशनलाल का घर भी जलभराव के कारण गिर चुका है। मामले को लेकर गांव के लोग ग्राम पंचायत अधिकारी को दोषी मान रहे थे। इसकी जानकारी खंड विकास अधिकारी नेवादा अखिलेश तिवारी को हुई तो वह जांच के लिए गांव पहुंचे। मामले की जांच के बाद उन्होंने कहा कि जिस सड़क निर्माण के बाद बस्ती में जलभराव की समस्या हुई है। उसका निर्माण मंडी परिषद की ओर से किया गया है। ऐसे में ग्राम विकास अधिकारी इस मामले में कुछ नहीं कर सकते। वह समस्या के निस्तारण को लेकर अन्य अधिकारियों से वार्ता करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस