लखनऊ से पैदल सफर कर मध्य प्रदेश के सतना और रीवा शहर जा रहे आठ राहगीरों को सैनी कोतवाली क्षेत्र के अझुवा कस्बे के पास पुलिस ने रोक लिया। सूचना पर पहुंचे एसडीएम सिराथू राजेश श्रीवास्तव ने सभी का स्वास्थ्य परीक्षण कराया और रैन बसेरा में ठहरने के लिए स्थान दिया।

कोरोना वायरस से बचाव को लेकर पूरे भारत में लॉकडाउन है। ट्रेन और बस सुविधा ठप होने से वे अपने-अपने घरों को नहीं पहुंच पा रहे हैं। ऐसी परिस्थिति में कई लोग पैदल ही निकल पड़े हैं। लखनऊ से पैदल यात्रा कर सतना और रीवा शहर जा रहे आठ राहगीरों को शुक्रवार को अझुवा कस्बे में पुलिस ने पकड़ लिया। सूचना पर पहुंचे एसडीएम राजेश श्रीवास्तव ने उनसे पूछताछ की तो बताया कि वे लखनऊ में प्राइवेट काम करते थे। वाहन नहीं मिलने से वे पैदल सफर कर रहे हैं। उन्होंने अपने नाम पुष्पेंद्र पुत्र शिवनारायण निवासी टिकुरी सतना, संदीप व शिवचंद्र पुत्र पंचोली निवासी रंगोली रीवा, मनीष पुत्र राजाराम निवासी खुज सतना, सुमेर पुत्र रामलखन निवासी बकडाल रीवा, ललित पुत्र उदयभान निवासी बहेलिया सतना, रविशंकर पुत्र रामदयाल, शिवचरन पुत्र मंगल निवासी रंगोली रीवा बताए। बहरहाल एसडीएम ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक डॉ. नीरज सिंह को सूचना दी और उनसे थर्मल स्क्रीनिग कराई। एसडीएम ने बताया कि सभी यात्रियों को रैन बसेरा में रहने की जगह दी गई है। उन्हें समय-समय पर भोजन व नाश्ते आदि की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस