कौशांबी। पिपरी थाना क्षेत्र के दुर्गापुर गांव के समीप मंगलवार को नहर किनारे झाड़ियों में मिला शव हरियाणा के नरेंद्र सिंह का था। पुलिस ने उसकी शिनाख्त के बाद नरेंद्र सिंह के साथी घनश्याम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है, लेकिन नरेंद्र हत्याकांड की गुत्थी उलझती जा रही है। आरोपित पुलिस की पकड़ से दूर है। वहीं पुलिस ने जवई व तिल्हापुर गांव से पांच संदिग्धों को उठाकर उनसे पूछताछ शुरू की है। फिलहाल अभी तक पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची।

पिपरी के दुर्गापुर गांव के समीप मंगलवार सुबह सड़क किनारे नहर की झाड़ियों में एक 35 वर्षीय युवक का शव पड़ा मिला। युवक का गला नायलान की रस्सी से कसा हुआ था। शारीर पर चाकू से गोदे जाने के निशान थे। तिल्हापुर के पास एक अज्ञात चार पहिया वाहन के मिलने के बाद उसके दस्तावेजों के आधार पर पुलिस ने शव की शिनाख्त कर ली, लेकिन अब तक घटना का पर्दाफास नहीं हो सका। पुलिस ने घटना को लेकर जवई गांव के घनश्याम पुत्र श्यामसुंदर द्विवेदी की आईडी, फोटो व मोबाइल मिलने पर उसे मुख्य आरोपी माना है, लेकिन अब तक वह पुलिस की पकड़ से दूर है। पुलिस ने गांव के पांच लोगों को उठाया भी है, लेकिन अब तक कोई सफलता नहीं मिली। मिला।

मामले में सीओ चायल श्याम कांत का कहना है कि मृतक के परिजन शव की शिनाख्त करके पोस्टमार्टम बाद शव अपने लेकर चले गए हैं। जवई के धनश्याम द्विवेदी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है, जल्द ही घटना का खुलासा किया जायेगा।

Edited By: Jagran