जासं, कौशांबी : महेवाघाट थाना क्षेत्र के अजरौली नहर पुलिया के समीप पशु व्यापारी से हुई लाखों की लूट के मामले में पुलिस दूसरे दिन भी लकीर पीटती रही। कई संदिग्धों की धर-पकड़ के बावजूद हाथ खाली ही रहे।

फतेहपुर शहर निवासी मोहम्मद बाबू पशु व्यापारी है। वह कुम्हियावां बाजार गुरुवार को मवेशियों की खरीद-फरोख्त करने के लिए चार पहिया गाड़ी से आ रहा था। भोर करीब पांच बजे वह जैसे ही अजरौली नहर पुलिया के समीप पहुंचा था कि चार पहिया वाहन सवार आए चार बदमाशों ने उसकी गाड़ी को रोक लिया। मोहम्मद बाबू के मुताबिक उसके पास रहे तीन लाख 30 हजार रुपया बदमाशों ने लूट लिया। मामले की सूचना पर पुलिस ने बदमाशों की तलाश में घेराबंदी की, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। मौके पर पहुंचे एसपी प्रदीप गुप्ता के निर्देश पर आनन-फानन में कोतवाल ने कई संदिग्धों की धर-पकड़ कर पूछताछ भी किया, लेकिन स्थिति जस की तस बनी रही। गौर करने वाली बात यह भी है कि सप्ताह भर पहले पशु व्यापारी से लूट का प्रयास हो चुका है। इस मामले में नामजद लोगों के खिलाफ भी शिकायत की गई, लेकिन पुलिस उस बिदु की ओर ध्यान देने के बजाए पूरे घटना को ही संदिग्ध मान रही है। बदमाशों की तलाश में लकीर पीट रहे पुलिस अफसरों का दावा है कि जल्द ही मामले का पर्दाफाश कर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप