Move to Jagran APP

Kaushambi News: बालू लदे डंपर से कुचलने से राजगीर की मौत, नाराज घरवालों ने किया चक्काजाम

सरायअकिल क्षेत्र के जरैनी गांव के समीप गुरुवार की रात बालू लदे डंपर ने साइकिल सवार राजगीर को कुचल दिया। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे स्वजनों समेत ग्रामीणों ने तिल्हापुरमोड़ सरायअकिल मार्ग जाम कर दिया। सूचना के बाद मौके पर सीओ मनोज रघुवंशी समेत सरायअकिल पिपरी और चरवा पुलिस पहुंच गई।

By Jagran News Edited By: Shivam Yadav Fri, 07 Jun 2024 03:24 AM (IST)
Kaushambi News: बालू लदे डंपर से कुचलने से राजगीर की मौत

संवाद सूत्र, चायल। सरायअकिल क्षेत्र के जरैनी गांव के समीप गुरुवार की रात बालू लदे डंपर ने साइकिल सवार राजगीर को कुचल दिया। हादसे में उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे स्वजनों समेत ग्रामीणों ने तिल्हापुरमोड़ सरायअकिल मार्ग जाम कर दिया। 

सूचना के बाद मौके पर सीओ मनोज रघुवंशी समेत सरायअकिल, पिपरी और चरवा पुलिस पहुंच गई। पुलिस आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों को समझाने बुझाने का प्रयास कर रही थी लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं थे। 

आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर ईंट पत्थर भी चलाया लेकिन पुलिस ने किसी तरह हल्का बल प्रयोग करते हुई किसी तरह परिजनों को कार्रवाई का आश्वासन देकर मनाया।

घर लौट रहे थे रामभवन

पिपरी  के तिलगोड़ी गांव निवासी 40 वर्षीय  रामभवन  राजगीर थे।  स्वजनों ने बताया कि इन दिनों रामभवन नेवादा गांव में किसी का मकान बना रहे थे। बृहस्पतिवार रात करीब नौ बजे साइकिल से वह वापस घर लौट रहे थे। जैसे ही वह जरैनी गांव के समीप पहुंचे किसी अज्ञात वाहन ने उन्हें कुचल दिया। हादसे में रामभवन की मौके पर ही मौत हो गई। 

दुर्घटना के बाद बालू लदा डंपर वाहन समेत मौके से भाग निकला। घटनास्थल से मात्र एक किमी दूर स्थित उनके घरवालों को हादसे में जैसे ही मौत की सूचना मिली रोते बिलखते वह मौके पर पहुंच गए। देखते ही देखते सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ भी जुट गई।

गुस्साए लोगों ने सड़क पर बांस बल्ली लगाकर तिल्हापुरमोड़ सरायअकिल पर जाम चक्काजाम कर दिया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची सरायअकिल पुलिस ने आक्रोशित लोगों को समझाने बुझाने का प्रयास किया, लेकिन नाराज परिजन और ग्रामीण मानने को तैयार नहीं हुए।

बवाल की आशंका पर सीओ मनोज रघुवंशी भी पिपरी और चरवा पुलिस के साथ पहुंच गए। बताया जा रहा है कि पुलिस ने जब शव को जबरिया पोस्टमार्टम के लिए भेजना चाहा तो आक्रोशित ग्रामीणों ने ईंट पत्थर चलाना शुरू कर दिया। 

पुलिस ने भीड़ को खदेड़ा

परिजन समेत नाराज ग्रामीण दुर्घटना करने वाले वाहन और चालक की गिरफ्तारी और मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। ईंट पत्थर चलाए जाने के बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए लाठी पटककर किसी तरह बवाल कर रहे ग्रामीणों को खदेड़ा और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

मामले में सीओ मनोज रघुवंशी का कहना है कि परिवार वालों किसी तरह समझा बुझाकर उचित कार्रवाई का आश्वासन देकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।