जेएनएन, कासगंज : गुरुवार तक गंगा के जल स्तर में होने वाली बढ़ोतरी का असर शुक्रवार को दिखा। हालांकि नरौरा से पानी का दबाव कम हो गया था, लेकिन जब तक खेतों तथा सड़कों पर पहुंचा पानी असर दिखाने लगा। जय किशन नरदौली मार्ग पर मूंजखेड़ा के निकट सड़क कटने से लोगों को परेशानी हुई। वाहन सवार यहां से निकल नहीं पाए। वहीं गंगा नदी पार खंदारी में सड़क के ऊपर पानी बहने लगा।

गुरुवार शाम से ही नरौरा से पानी कम होने लगा। 2.23 लाख क्यूसेक की जगह पानी घटते हुए गुरूवार को दो लाख क्यूसेक तक पहुंच गया तो शुक्रवार को इसमें और कमी आई, मगर गंगा नदी से बीते दिनों गांवों की तरफ दौड़े पानी ने शुक्रवार को असर दिखाया। थाना सिकंदरपुर वैश्य के नगला जय किशन नरदोली मार्ग के गांव मूंजखेड़ा पर पानी के दवाब से सड़क करीब पांच-छह फुट के दायरे में टूट गई। खबर मिलने पर अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची। ग्रामीणों की भीड़ भी यहां पर जमा हो गई। सचिव नीरज कुमार ने यहां पहुंच कर लोगों को समझाया। टूटी सड़क से दूर रहने के लिए कहां। वहीं गंगा पार के गांव नगला खंदारी में सड़क के ऊपर से पानी बहने लगा। मौके पर पहुंचे एसडीएम शिवकुमार ने यहां पर स्थिति का जायजा लिया तथा लोगों को जागरूक किया।

घरों में घुसा पानी, लोगों ने निकाला सामान : शुक्रवार रात में कई घरों में भी पानी घुस गया। निबिया गांव में तीन-चार घरों में पानी घुसने पर मौके पर पहुंचे राजस्व विभाग के कर्मियों ने लोगों का सामान निकलवाया। वहीं अन्य लोगों को भी सचेत करते हुए ऊपर बने मकानों में जाने के लिए कहा। गांव वमनपुरा में वीर सिंह एवं दीर सिंह के चारों तरफ पानी भर जाने से परिजन परेशान हो गए। पटियाली के मूंज खेड़ा में कुछ मकान पानी से चारों तरफ से घिर गए। पटियाली के मेहुला में भी कुछ घरों में पानी घुस गया। वहीं किसौल के आबादी क्षेत्र तक भी पानी पहुंच गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस