कासगंज, जागरण संवाददाता। सोमवार की सुबह इबादत के नाम रही। ईद उल अजहा (बकरीद) के पर्व पर इबादतगाहों पर सुबह से ही भीड़ उमड़ने लगी। अकीदत एवं एहतराम के साथ में ईद की नमाज अदा हुई। लोगों ने मुल्क की अमन चैन की दुआ मांगी। नमाज के दौरान इबादतगाहों के बाहर सड़कों पर दूर तक खुदा की इबादत गूंज रही थी। इस अवसर पर घरों में भी कुर्बानियां दी गई।

शहर में मुस्लिम बस्तियों नमाज स्थलों एवं ईदगाहों पर मुस्लिम समुदाय के लोगों का सुबह से जुटना शुरू हो गया। नए नए परिधानों में नमाज अदा करने के लिए बड़े, बूढ़े एवं बच्चे भी नमाज पढ़ने पहुंचे। सुबह से ही इबादतगाहों पर इबादत का सिलसिला शुरू हो गया। इस्माइलपुर रोड स्थित नई ईदगाह, आजाद गांधी इंटर कॉलेज, छर्रा अड्डा ईदगाह, चकईया ईदगाह एवं सराय वाली मस्जिद पर नमाज अदा की। इस अवसर पर अल्लाह ताला से अमन चैन की दुआ की गई। ईद की नमाज के बाद घरों में कुर्बानियां दी गई। मुस्लिमों ने एक दूसरे को गले लगा ईद की मुबारकबाद दी। सुरक्षा की ²ष्टि से डीएम चंद्र प्रकाश सिंह, एसपी सुशील घुले पुलिस बल के साथ शहर में गश्त करते रहे। शहर में सुरक्षा व्यवस्था की कमान सीओ आईपी सिंह और एसडीएम ने संभाली। प्रशासन के कैंप में डीएम एवं एसपी को गले मिल कर शुभकामनाएं देने वालों का तांता लगा रहा। पालिकाध्यक्ष रजनी साहू, पालिकाध्यक्ष प्रतिनिधि राजवीर साहू के साथ में अन्य लोग भी कैंप में उपस्थित थे।

मेले का बच्चों ने उठाया लुत्फ

ईद के अवसर शहर के सकुलर रोड और जामा मस्जिद इलाके में परंपरागत मेले का आयेाजन किया गया। मेले में पहुंच बच्चों ने झूला झूले। बड़ों ने चाट पकौड़ी का स्वाद चखा। मेले में मिक्की माउस आकर्षण का केंद्र रहा। मेले में भी सुरक्षा की ²ष्टि से पुलिस और आरएफ के जवानों के साथ महिला पुलिस की तैनाती की गई थी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप