Move to Jagran APP

Etah Seat: भाजपा व सपा-कांग्रेस और बसपा प्रत्याशी समेत दस प्रत्याशी मैदान में, चार नामांकन हुए खारिज; 22 तक हो सकेगी नाम वापसी

एटा लोकसभा क्षेत्र के लिए 12 अप्रैल से 19 अप्रैल तक कासगंज कलक्ट्रेट में नामांकन हुए थे। इसमें भाजपा सपा-कांग्रेस गठबंधन और बसपा प्रत्याशी समेत 14 ने नामांकन किए थे। शनिवार को डीएम एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सुधा वर्मा ने नामंकन पत्रों की जांच की। इसमें चार नामांकन पत्रों में खामियां पाईं गईं। इसके चलते उन्हें निरस्त कर दिया गया।

By pushpendra soni Edited By: Riya Pandey Sat, 20 Apr 2024 08:18 PM (IST)
एटा सीट से चार नामांकन हुए खारिज

संवाद सूत्र, कासगंज। Etah Lok Sabha Seat: लोकसभा क्षेत्र एटा के लिए दाखिल किए नामांकनों की शनिवार को जांच की गई। जांच में चार नामांकन खारिज कर दिए गए। जांच के बाद भाजपा, सपा-कांग्रेस और बसपा समेत दस प्रत्याशी मैदान में रह गए हैं। अब 22 अप्रैल सोमवार को नाम वापसी हो सकेगी। उसके बाद जो भी फाइनल प्रत्याशी होंगे, उन्हें चुनाव चिह्न आवंटित कर दिए जाएंगे।

एटा लोकसभा क्षेत्र के लिए 12 अप्रैल से 19 अप्रैल तक कासगंज कलक्ट्रेट में नामांकन हुए थे। इसमें भाजपा, सपा-कांग्रेस गठबंधन और बसपा प्रत्याशी समेत 14 ने नामांकन किए थे। शनिवार को डीएम एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सुधा वर्मा ने नामंकन पत्रों की जांच की। इसमें चार नामांकन पत्रों में खामियां पाईं गईं। इसके चलते उन्हें निरस्त कर दिया गया। निरस्त होने वालों में गैर मान्यता प्राप्त हिन्द समर्थित पार्टी के नाजेन्द्र सिंह, निर्दलीय कमरुद्दीन खान, राम कुमार दिवाकर और रामचंद्र के नामांकन पत्र शामिल हैं।

ये लोग टिके हैं मैदान में

जिन प्रत्याशियों के नामांकन सही पाए गए, उनमें भाजपा के राजवीर सिंह, सपा-कांग्रेस गठबंधन के देवेश शाक्य और बसपा के मोहम्मद इरफान एडवोकेट के साथ ही गैर मान्यता प्राप्त दल किसान क्रांति दल के अनुपम कुमार, पीपुल्स पार्टी आफ इंडिया के उदयवीर वीर सिंह, बहुजन मुक्ति पार्टी के कैलाश कुमार और भारतीय शक्ति चेतना पार्टी के वैभव मिश्रा शामिल हैं। इसके साथ ही निदर्लीय प्रत्याशियों में महेन्द्र सिंह, अशोक कुमार और दानवीर के नामांकन सही पाए गए।

डीएम व जिला निर्वाचन अधिकारी सुधा वर्मा के अनुसार, नामांकन पत्रों की जांच में चार नामांकन निरस्त कर दिए गए। अब कुल दस प्रत्याशी रह गए हैं। 22 अप्रैल को नाम वापसी के बाद चुनाव चिह्न आवंटित कर दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें- Mainpuri Seat: जांच में खामियों के चलते चार प्रत्याशियों के नामांकन खारिज, सपा व भाजपा और बसपा के अलावा इनके पर्चा है सही