जागरण संवाददाता, कासगंज : भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन को लेकर मंदिरों और घरों में तैयारियां जोरों पर है। शहर के साथ-साथ कस्बाई क्षेत्रों में भी प्रमुख मंदिरों को सजाकर भव्यता प्रदान की जाएगी। स्कूलों में जन्माष्टमी महोत्सव मनाया जाएगा।

भादों मास के कृष्ण पक्ष में अष्टमी को कृष्ण जन्माष्टमी पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष यह पर्व 24 अगस्त को मनाया जाएगा। पर्व को लेकर हिदू धर्मालांबियों में उत्साह दिख रहा है। पर्व को लेकर तैयारियां भी शुरू हो गई हैं।

शहर के चामुंडा मंदिर, मनकामेश्वर मंदिर, प्रभुपार्क, खिड़किया मंदिर, शीतला मंदिर, भूतेश्वर मंदिर, पथवारी मंदिर, राधाकृष्ण मंदिर, दाऊजी मंदिर के साथ अन्य मंदिरों पर साफ सफाई का कार्य शुरू हुआ है। चामुंडा मंदिर पर बर्फानी गुफा सजाई जाएगी और भजनों का धाíमक आयोजन होगा। मनकामेश्वर और प्रभुपार्क पर राधाकृष्ण लीला होगी। इसके साथ साथ अन्य मंदिरों में भी प्रबंधन द्वारा धाíमक आयोजनों की योजना बनाई गई है। शहर के विद्यालयों में भी होंगे आयोजन

कृष्ण जन्माष्टमी की पूर्व संध्या 23 अगस्त को शहर के राव महेंद्र पाल सिंह सरस्वती शिशु मंदिर, गंगा विरमा देवी सरस्वती शिशु बिहार, हरचरन लाल विमला देवी गर्ग सरस्वती शिशु मंदिर, सूरजप्रसाद डागा सरस्वती विद्या मंदिर कॉलेज, श्रीमती द्रोपदी देवी जाजू सरस्वती बालिका इंटर कॉलेज द्वारा संयुक्त रूप से बिलराम गेट स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में जन्माष्टमी महोत्सव मनाया जाएगा।

पूजा कैलेंडर और सामग्री की बढ़ी बिक्री

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व को लेकर घरों में भगवान कृष्ण की विशेष पूजा होती है। इसके लिए एक विशेष कैलेंडर बाजार में बिक्री के लिए रहता है। कैलेंडर की बिक्री के साथ साथ पूजा की अन्य सामग्री की बिक्री बढ़ गई है। वहीं घरों में मंदिर सजाने के लिए चाइनीज लाइटें व अन्य साज सच्जा सामग्री की बिक्री हो रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस