जागरण संवाददाता, कासगंज: पटियाली विकास खंड में तैनात लापता रोजगार सेवक का पांच दिन बीतने के बावजूद भी कोई सुराग नहीं लगा है।

बुधवार को ग्राम रोजगार सेवक वेलफेयर एसोसिएशन एवं लापता रोजगार सेवक की पत्नी ने डीएम से मुलाकात कर पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है। पटियाली विकास खंड की ग्राम पंचायत मजराजात पटियाली पर तैनात रोजगार सेवक राजेश कुमार बीती 17 अगस्त को बूढ़ी गंगा पर चल रहे मनरेगा कार्य को देखने गया था, लेकिन वह देर शाम तक वापस नहीं लौटा तो परिजनों को चिता हुई। काफी तलाश के बाद उनका कोई सुराग नहीं लगा। पत्नी पूनम ने 18 अगस्त को अनहोनी की आशंका जताते हुए कोतवाली पटियाली में गुमशुदगी दर्ज करा दी। घटना के पांच दिन बाद भी रोजगार सेवक का सुराग नहीं लगा है। ग्राम रोजगार सेवक वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों एवं लापता रोजगार सेवक की पत्नी पूनम ने डीएम चंद्र प्रकाश सिंह से मुलाकात की और कोतवाली पुलिस पर अभी तक कोई कार्रवाई न करने आरोप लगाते हुए लापता रोजगार सेवक की तलाश करने की मांग की। डीएम ने आश्वासन दिया कि त्वरित कार्रवाई होगी और रोजगार सेवक का मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगवाकर उसकी तलाश की जाएगी। ज्ञापन देने वालों में मोहित मिश्रा, महेश चंद्र, मोहनलाल, जोगेंद्र सिंह राजपूत, शादाब हुसैन, अजेंद्र सिंह चौहान आदि रोजगार सेवक शामिल थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप