कासगंज, जागरण संवाददाता : ढोलना में काफी वक्त से ग्रामीणों की नींद खराब करने वाले पशु चोरों को पुलिस ने शनिवार रात गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार रात को चोरी के बाद में ही मुस्तैद हुई पुलिस को चकमा देने का चोरों ने प्रयास किया। गाय को रात भर पड़ोस के ही गांव में रखा, लेकिन पुलिस भी इस चाल को समझ गई। चोरों को पकड़ने के लिए शनिवार रात को बिछाए जाल में चोर फंस गए।

31 मई मध्य रात्रि को ढोलना निवासी केशव सिंह पुत्र च्योति प्रसाद की खूंटी पर बंधी गाय अज्ञात चोर चुरा ले गए। पुलिस को जानकारी मिलने पर पुलिस ने चेकिग की, लेकिन रात में सड़कों पर गाय को ले जाने वाला वाहन ही नहीं दिखा। पशु चोरों की तलाश में लगे रवेंद्र बहादुर को अंदाजा था गाय को किसी पड़ोसी गांव में छिपाकर रखा गया है। सफेद लोडर वाहन की ग्रामीणों से जानकारी मिलने पर पुलिस ने तहकीकात की तो पता चला कि यह वाहन किनावा का हो सकता है। शुक्रवार को गाय को चोरों द्वारा ले जाने की आशंका पर रवेंद्र बहादुर ने पुलिस टीम को सभी मार्ग पर मुस्तैद कर दिया। वह खुद किनावा की तरफ जाने वाले मार्ग पर पेट्रोल पंप पर खड़े हो गए। रात में दस बजे करीब वाहन नजर आते ही पुलिस ने गाड़ी सड़क पर लगा दी। वाहन में सवार पशु चोरों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने घेराबंदी कर एक को गिरफ्तार कर लिया। एक भाग खड़ा हुआ। पशु चोरों ने स्वीकारा कि गाय को उन्होंने महेबा गांव में रखा था। पकड़े गए आरोपित का नाम देवेंद्र निवासी किनावा थाना ढोलना है। वहीं फरार साथी शैलेष यादव निवासी सूमरा की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप