कासगंज, जागरण संवाददाता। शनिवार शाम ड्यूटी से लौटते वक्त आरक्षी लोकेश की हादसे में मौत की खबर परिवार को मिली तो कोहराम मच गया। लोकेश की शादी ढाई माह पूर्व ही हुई थी। आरक्षी की मौत से सिढ़पुरा स्थित पैतृक गांव में भी शोक का माहौल है।

कासगंज के सहावर गेट पवसरा में रह रहे लोकेश कुमार सागर पुत्र सूरजपाल सागर यूपी पुलिस में आरक्षी के पद पर बरेली के किला थाने में तैनात था। लोकेश को मृतक आश्रित में नौकरी मिली थी। शनिवार की शाम वह डयूटी समाप्त कर घर लौट रहा था कि तभी पीलीभीत रोड पर बाइक अनियंत्रित होकर डिवाइडर में जा घुस गई, जिसमें लोकेश की मौत हो गई। जानकारी कासगंज में परिजनों को मिली तो विधवा मां शकुंतला और परिजनों का रो रो कर बुरा हाल था। पोस्टमार्टम के बाद शव को बरेली से अंतिम संस्कार के लिए कासगंज आवास लाया गया। जहां से परिजन शव को अंतिम संस्कार के लिए विकासखंड सिढ़पुरा के पिलखुनी ननिहाल ले गए। जहां पुलिस सम्मान के साथ लोकेश का अंतिम संस्कार किया। इन्होंने दी श्रद्धांजलि

कासगंज के एएसपी डॉ. पवित्र मोहन त्रिपाठी, सीओ सदर आईपी सिंह एवं इंस्पेक्टर डीके दुबे ने मृतक आरक्षी लोकेश कुमार के सहावर गेट पवसरा स्थित आवास पर श्रद्धांजलि दी और परिवार को ढांढस बंधाया। गांव में भी शोक की लहर दौड़ गई थी।

बीमारी के चलते हुई थी पिता की मौत

लोकेश के पिता की भी असमय मौत हुई थी। उनकी 2015 में बीमारी से मौत हुई थी। अब लोकेश की मौत से परिवार में कोहराम मचा है। लोकेश की शादी दस जुलाई को फीरोजाबाद के गांव मक्खनपुर निवासी सूरजपाल की बेटी प्रियंका के साथ हुई थी। मन में सुनहरे भविष्य के सपने लेकर आई प्रियंका का रो-रोकर बुरा हाल था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप