कासगंज, संवाद सहयोगी : जिले के उत्तरी भाग से होकर गुजर रही पतित पावनी गंगा के अवतरण दिवस दशहरा पर्व पर शनिवार को कोरोना संक्रमण के चलते सामूहिक स्नान पर पाबंदी रहेगी। गुरुवार देर शाम बदायूं और कासगंज पुलिस प्रशासन की संयुक्त बैठक में नहान को लेकर रणनीति तैयार की गई है।

गंगा दशहरा पर स्नानार्थियों की आस्था पर कोरोना का ग्रहण लगा है। कोरोना नियमों के चलते स्नानार्थी गंगा घाटों पर पहुंचकर सामूहिक रूप से स्नान नहीं कर सकेंगे। एसडीएम ललित कुमार एवं सीओ आरके तिवारी ने गुरुवार की देर रात बदायूं जिले के एसडीएम सदर लाल बहादुर एवं सीओ गजेंद्र श्रोतीय के साथ बैठक कर दोनों जिलों की सीमाओं मे बाहरी क्षेत्रों से आने वाले स्नानार्थियों को रोकने की रणनीति तैयार की है। एसडीएम ललित कुमार ने बताया है कि कासगंज की सभी सीमाओं को गंगा दशहरा पर सील कर दिया जाएगा। जिले की सीमाओं पर बेरिकेडिंग लगाकर गैर जिलों एवं प्रदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को रोका जाएगा। ताकि गंगा घाटों पर भीड़ न लग सके। कर सकेंगे अस्थि विसर्जन

प्रशासन ने भले ही गंगा स्नानार्थियों की भीड़ को रोकने के लिए प्रतिबंध लगाया हो, लेकिन बाहरी प्रदेशों से आने वाले तीर्थ यात्रियों एवं कर्मकांड कराने वाले लोगों को छूट दी गई है। वे गंगाघाट पर अस्थि विसर्जन कर सकते है। इसके लिए कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है। एक कलश के साथ केवल दो व्यक्ति को ही अनुमति होगी। कोरोना काल समाप्त हो गया है। अब गंगा स्नान पर रोक लगाना उचित नहीं है। तीर्थ यात्रियों का आना ही रोजी-रोटी का साधन है। बीते वर्ष भी स्नान नहीं हुआ था।

- अभय स्थापक, तीर्थ पुरोहित गंगा के अवतरण दिवस गंगा दशहरा पर गैर प्रांतों से तमाम स्नानार्थी आते हैं। स्नान पर रोक लगाने की बजाय कोविड हेल्प डेस्क स्थापित कराई जाती। परीक्षण के बाद गंगा स्नान की स्वीकृति दी जाती।

- गौरव दीक्षित, तीर्थ पुरोहित सारे व्यापार खोले जा चुके है। कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम गई है। ऐसे में गंगा स्नान को प्रतिबंधित करना अनुचित है। हजारों हिदूओं की भावनाओं से खिलवाड़ है। प्रशासन को ऐसी रोक नहीं लगानी चाहिए।

- अनुज दुबे, तीर्थ पुरोहित जिले में ही नहीं पूरे यूपी में कोरोना समाप्त हो गया है। सभी को छूट मिल रही है। लेकिन तीर्थ स्थलों पर सरकार छूट नहीं दे रही है। बाहर से आने वाले तीर्थ यात्रियों को बिना गंगा स्नान के लौटने पर परेशानी होगी।

- अमित कुमार शर्मा, तीर्थ पुरोहित

Edited By: Jagran