कासगंज, संवाद सहयोगी : जिले में बुखार के रोगियों की संख्या दिनप्रतिदिन बढ़ रही है। डेंगू के चार और मलेरिया के दो नए रोगी शुक्रवार को मिले। वहीं, वायरल फीवर के दर्जनों रोगी जिला अस्पताल, स्वास्थ्य केंद्र और निजी अस्पताल में भर्ती हैं। अब तक जिले में बुखार से 41 लोगों की मौत हो चुकी हैं। स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन द्वारा उचित कार्रवाई न करने से लोगों में आक्रोश है। उन्होंने लोगों से क्षेत्र में दवाओं का छिड़काव कराने की मांग की है।

जिले में बुखार का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। शुक्रवार का दिन कुछ राहत भरा रहा। बुखार से कोई मौत नहीं हुई। जिले में अब तक 977 लोग बुखार से पीड़ित पाए गए हैं। डेंगू के लक्षण वाले मरीजों की संख्या 677 हो चुकी है। डेंगू के सक्रिय रोगियों की संख्या 52 पहुंच गई हैं। इनमें चार शुक्रवार को मिले हैं। मलेरिया का एक रोगी मिलने के साथ ही इनकी संख्या 12 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांव-गांव पहुंचकर रोगियों का परीक्षण कर रही हैं। दवाएं देकर उन्हें बुखार से बचाव के लिए जागरूक किया जा रहा है। 14 टीमों ने जिले के 23 गांवों में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। 138 बुखार सहित अन्य रोगों से पीड़ित रोगियों को दवाएं वितरित की गई। सीएमओ डा. अनिल कुमार ने बताया कि नगरिया, तकुआवारा, कादरगंज, पंसौती, चौड़ियाई, बहादुर नगर, अल्हेपुर, नगला बंजारा, बूढ़ा नगरिया, मनिकापुर, दतलाना, शाहपुर, तोलकपुर, पचलाना, कुमरौआ, सुजातगंज, हिम्मतपुर, फरीदपुर, बढ़ारी खुर्द में शिविर लगाकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया है। जिले में डेंगू बुखार से कोई मौत नहीं है।

Edited By: Jagran