कासगंज, संवाद सहयोगी : रविवार को गंगा नदी में बैराजों से पानी का डिस्चार्ज कम होने से कछला गंगा नदी पर भी पानी का गेज घट गया, लेकिन शनिवार को कई गांवों की आबादी में घुसा पानी ग्रामीणों एवं किसानों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। देवकली के पास सड़क पर पानी आने से यहां भी आवागमन ठप है। सिचाई विभाग ने निरंतर कम हो रहे डिस्चार्ज के चलते एक दो दिन में स्थिति सामान्य होने की संभावना जताई है।

बीते सप्ताह पहाड़ों पर हुई बारिश के बाद बैराजों पर पानी का दबाव बढ़ गया था। इसके चलते बैराजों से गंगा में पानी का बड़ी मात्रा में डिस्चार्ज किया गया। इससे मध्यम बाढ़ के हालात पैदा हो गए। गंगा का गेज भी बढ़कर 163.90 सेंटीमीटर तक जा पहुंचा था। सिचाई विभाग की चिता उस समय और अधिक बढ़ गई जब गंगा के पानी से दतलाना बैराज की पुलिया रिसने लगी और मुज्जफरनगर बांध कट गया। उससे शहवाजपुर, दतलाना और मुज्जफरनगर में पानी आबादी तक पहुंच गया। पटियाली के गांव देवकली के मुख्य मार्ग पर पानी आने से रास्ता अवरुद्ध हो गया। वहां का आवागमन अभी भी ठप है। नरौरा बैराज से पानी का डिस्चार्ज घट गया। कछला गंगा नदी पर पानी का गेज घट कर 163.60 मीटर तक आ गया है। सिचाई विभाग के अधिशासी अभियंता अरुण कुमार ने पटियाली में कादरगंज घाट का निरीक्षण किया है। उन्होंने बताया कि बैराज से पानी का डिस्चार्ज निरंतर कम हो रहा है। गंगा नदी में भी पानी कम हुआ है। बहाव तेज है। जो भी पानी है, निकल जाएगा। बैराजों से पानी का डिस्चार्ज

- हरिद्वार बैराज : 42510 क्यूसेक

- बिजनौर बैराज : 43633 क्यूसेक

- नरौरा बैराज : 124913 क्यूसेक गंगा में अब सामान्य बाढ़ की स्थिति है। हालात सामान्य होते जा रहे हैं। आबादी एवं सड़कों पर भरा पानी अब उतरने लगेगा।

- पंजाबी शर्मा, सहायक जिला बाढ़ अधिकारी

Edited By: Jagran