कासगंज, जासं। एकेडमिक रिसोर्स पर्सन (एआरपी) बन कर स्कूलों में निरीक्षण की जिम्मेदारी संभालने के लिए जिले के 59 शिक्षक परीक्षार्थी की भूमिका में नजर आए। परीक्षा केंद्र के गेट पर चेकिग के बाद में परीक्षा कक्ष में सवालों से जूझे।

शिक्षकों के विरोध के बाद भी विभाग एआरपी परीक्षा कराने में सफल रहा। 64 शिक्षकों ने आवेदन किए थे, इनमें से चार रिजेक्ट हो गए। सोमवार सुबह राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में परीक्षा शुरू हुई। इसके लिए सुबह ही शिक्षक परीक्षा केंद्र में पहुंच गए। 60 में से 11 शिक्षक गैरहाजिर रहे। बीएसए अंजलि अग्रवाल भी परीक्षा के दौरान केंद्र पर मौजूद रहीं। प्रधानाचार्य डॉ. राजेश यादव के निर्देशन में कॉलेज के शिक्षकों ने परीक्षा की व्यवस्था संभाली। शिक्षक नेताओं की भी रही नजर :

एआरपी परीक्षा पर शिक्षक नेताओं की भी नजर रही। कौन-कौन शिक्षक परीक्षा देने जा रहे हैं। इसके संबंध में शिक्षक नेता भी अपने स्तर से जानकारी लेते नजर आए। शिक्षकों को शिक्षक संघ से किया निष्कासित :

प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला महामंत्री मुनेश राजपूत ने कहा है कि एआरपी परीक्षा में शामिल होने वाले सभी शिक्षकों को प्राथमिक शिक्षक संघ की सदस्यता से निष्कासित किया गया है। इन शिक्षकों द्वारा संगठन के विरोध के बाद भी परीक्षा देकर जिले के शिक्षकों के भरोसे को तोड़ा है। हालांकि इनमें हमारे संगठन का कोई पदाधिकारी नहीं है, लेकिन जो सदस्य हैं उन्हें भी सदस्य बने रहने का अधिकार नहीं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस