जागरण संवाददाता, कानपुर देहात: मंगलवार को पांच गांवों में भेजी गई डाक्टरों की टीमों को 432 लोग बीमारी से पीड़ित मिले। इनका उपचार कर दवाइयां बांटी गईं। वहीं मक्का निवादा में बीमारी से एक महिला की मौत होने व बड़ी संख्या में लोगों के बीमार होने की सूचना के बाद भी टीम न पहुंचने से मरीज झोलाछापों से इलाज कराने को मजबूर दिखे।

जलभराव व गंदगी से बीमारी जानलेवा बनी हुई है। बीमारी नए नए गांवों को चपेट में ले रही है। मौजूदा समय में ओरिया, उसरी, पाल नगर, भग्गा निवादा, अलावलपुर, फंदा , । मंझपटिया ,भिखनापुर व बरौर आदि गांव बीमारी की चपेट में हैं। मंगलवार को ओरिया में बीमारी की सूचना पर डॉ. प्रदीप कुमार की अगुवाई में पहुंची टीम ने यहां के मनोज, बिट्टन, रेखा, कंचन, किरण,कुलदीप, रामदेवी, जगदीश, नरेश सहित 90 मरीजों का इलाज कर दवाइयां बांटी। जबकि उसरी गांव में डॉ. ओपी भदौरिया की अगुवाई वाली टीम ने यहां के अहमद अली, मोनी, राहुल , मीना देवी, सुमनलता सहित डेढ़ सौ मरीजों का उपचार कर दवाइयां बांटी। मैथा ब्लाक के फंदा गांव में बीमारी की सूचना पर डा. विजय कुमार की अगुवाई में भेजी गई टीम ने विभा, रविकांत, जानू,गुंजन, अर्जुन, सविता, शहीद, सोहन, रानी, शबनम सहित 53 मरीजों का इलाज कर दवाइयां उपलब्ध कराईं। इधर भिखनापुर गांव में अकबरपुर सीएचसी के डॉ.अरुणेश प्रताप ¨सह की टीम ने शिवम, सतीश, पारुल, नेहा, अनीता, मनोज सहित सौ मरीजों का इलाज कर दवा बांटी। जबकि पीएचसी बरौर की डा. शशि ¨सह ने कस्बे में बुखार पीड़ित खुशबू, राजाबेटी, रामचन्द्र, विपिन, सत्यम, सुषमा, आध्या, राजकिशोर, रामसेवक, अजीत, मूलचंद्र, आरती, सोनू, कपिल, पारुल आदि का इलाज किया। मक्का निवादा में

मन्नालाल, लौंग श्री,आरती ,रामश्री,रामकली, मीना, सुमन, मोइन,मोबीन, तकदीरन आदि मरीज कराहते हुए टीम का इंतजार करते रहे। ग्राम प्रधान माया पाल ने बताया कि सूचना के बाद भी डाक्टर के गांव न पहुंचने से मरीजों को मजबूरी में झोलाछापों से इलाज कराना पड़ा। इसी तरह एक दिन के इलाज की खाना पूरी के बाद पाल नगर रसूलाबाद, भग्गा निवादा, मझपटिया, अलावलपुर में टीम न पहुंचने से इन गांवों में डेरा जमाए झोलाछापों ने इलाज के नाम से जमकर कमाई की। जिला संक्रामक रोग प्रभारी व डिप्टी सीएमओ डा. एपी वर्मा ने बताया कि मंगलवार को पांच गांवों में स्वास्थ्य टीमें भेजकर मरीजों का उपचार कराया गया। मक्का निवादा सहित अन्य गांवों में बुधवार को टीमें भेजकर उपचार कराया जाएगा।

Posted By: Jagran