संवाद सहयोगी, डेरापुर : थाना क्षेत्र के अंतापुर गांव में संदिग्ध हालात में एक युवक ने खेत में लगे नीम के पेड़ में फांसी का फंदा लगाकर जान दे दी। वह तीन दिन पहले गुजरात जाने की बात कह घर से निकला था। खेत मालिक की सूचना पर स्वजन मौके पर पहुंचे और रोने बिलखने लगे।

अंतापुर गांव में साहब लाल कटिहार के खेत में लगे नीम के पेड़ पर गांव निवासी अजय सिंह के पुत्र 23 वर्षीय रवी प्रताप ने संदिग्ध हालात में फांसी लगा ली। खेत मालिक साहब लाल फसल देखने गए तो फंदे पर लटकते युवक का शव देखकर उन्होंने स्वजनों को जानकारी दी। कुछ देर में ही स्वजन मौके पर पहुंच गए और रोने बिलखने लगे। दिवंगत रवी प्रताप के चाचा अरविद सिंह ने पुलिस को सूचना दी। डेरापुर थाने से दारोगा भागमल अंतापुर पहुंचे और शव को फंदे से उतरवाया। अरविद सिंह ने पुलिस को बताया कि रवी प्रताप 21 जनवरी को घर से गुजरात काम करने के लिए निकला था। इसके बाद से स्वजन यहीं समझ रहे थे कि वह गुजरात पहुंच कर जानकारी देगा। शुक्रवार को उसका शव पेड़ पर फंदे से लटकता मिलने पर स्वजन सन्न रहे गए। दिवंगत के भाई शिवप्रसाद, बहन अर्चना, मां मीरा देवी का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। प्रभारी निरीक्षक नीरज कुमार यादव ने बताया कि सूचना दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस