संवाद सहयोगी, भोगनीपुर (कानपुर देहात) : झांसी से भीमसेन के बीच रेल लाइन दोहरीकरण के तहत मंगलवार को चौरा स्टेशन से मलासा स्टेशन के बीच डाली गई नई रेल लाइन का सीआरएस निरीक्षण करने के बाद मंगलवार रात से ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया है। इससे लोगों में खुशी है।

रेल लाइन दोहरीकरण के तहत चौरा रेलवे स्टेशन से मलासा स्टेशन के बीच दोहरी रेल लाइन का कार्य पूरा हो जाने पर मंगलवार को रेल विभाग के मुख्य संरक्षा आयुक्त मो. लतीफ ने निरीक्षण किया था। चौरा से मलासा स्टेशन तक रेल अधिकारियों के साथ ट्राली में बैठकर रेल लाइन दोहरीकरण कार्य का निरीक्षण करने के बाद मंगलवार को शाम मुख्य संरक्षा आयुक्त ने मलासा से चौरा के बीच डाली गई नई रेल पटरी पर 120 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार से आब्जर्वेशन ट्रेन चलाकर रेल पटरी का निरीक्षण किया था। इसमें सब कुछ सही मिलने पर मुख्य संरक्षा आयुक्त ने नई रेल पटरी पर ट्रेन चलाने की अनुमति दे दी थी। इसके बाद मंगलवार रात से ही मलासा से चौरा के बीच डाली गई नई रेल पटरी पर ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया है। मंगलवार रात सुपरफास्ट ट्रेन पुष्पक एक्सप्रेस को नई रेल पटरी पर चलाने के साथ ही रात में ही साबरमती एक्सप्रेस, एलटीटी एक्सप्रेस, कुशीनगर एक्सप्रेस, जनसाधारण एक्सप्रेस आदि सवारी ट्रेनों समेत 14 ट्रेनें गुजारी गईं। बुधवार को भी इन दोनों स्टेशनों के बीच डाली गई नई रेल पटरी पर राप्तीसागर एक्सप्रेस, बरौनी एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनें गुजरी। पुखरायां रेलवे स्टेशन के अधीक्षक वीके प्रजापति ने बताया कि मंगलवार रात से ही ट्रेनों का आवागमन शुरू कर दिया गया है।

Edited By: Jagran