संवाद सहयोगी, भोगनीपुर : मलासा ब्लाक के निगोही गांव के पास सेंगुर नदी पर बने पुल के किनारे दोनों ओर सड़क धंस जाने से दुर्घटना का खतरा बना है। लोक निर्माण विभाग के अफसरों के ध्यान न देने से राहगीर डर रहे हैं।

पिछले दिनों रुक-रुक कर लगातार हुई बारिश से निगोही गांव के पास दुर्वाषा ऋषि आश्रम के पीछे सेंगुर नदी पर बने पुल के दाहिने ओर सड़क में गहरा गड्ढा हो गया है।जबकि इसी पुल के पास सड़क के बायी ओर भी सड़क कट गई है। ऐसे में इस मार्ग से निकलने वाले वाहनों के धंसी व कटी सड़क की चपेट में आकर दुर्घटनाग्रस्त होने की आशंका बनी है। सबसे अधिक समस्या रात के समय वाहनों के गुजरने के दौरान होती है। दूसरी ओर से आ रहे वाहन की हेड लाइट जलने से क्षतिग्रस्त सड़क नहीं दिखती है। ऐसे में जरा सी चूक बड़ी घटना की वजह बन सकती है। वहीं ओवर टेक के दौरान दुर्घटना का खतरा रहता है। मलासा ब्लाक के निगोही, केशी, कुटरा, बरौर, गुरुगांव, मदनपुर, डुड़ियामऊ, महोलिया आदि गांवो के लोग इसी मार्ग से होकर अकबरपुर ब्लाक के पतारी गांव होते हुए मुख्यालय व आसपास गांवो में जाने का रास्ता है। बरौर कस्बा व आसपास के गांवों के लोग भी इसी सड़क से गुजर कर मुख्यालय आते-जाते हैं। सड़क व पुल पर देर रात तक आवागमन रहता है। पुल के पास दोनों ओर सड़क क्षतिग्रस्त होने से दुर्घटना की आशंका से लोग डरे हैं। एसडीएम राजीव राज ने बताया कि दुर्वाषा ऋषि आश्रम के पास सेंगुर नदी पुल को जोड़ने वाली सड़क क्षतिग्रस्त होने की जानकारी मिली है। लोक निर्माण विभाग के अभियंता को अवगत कराया गया है। जल्द क्षतिग्रस्त सड़क ठीक कराई जाएगी।

Posted By: Jagran