जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए कवायद हो रही है, लेकिन कई जगह कमियां भी हैं। अकबरपुर चौराहे के पास एक नर्सिंग होम में दो कोरोना मरीज मिले थे, लेकिन उसके बाद भी यहां पर कंटेनमेंट जोन को अस्पताल तक ही सीमित रख बैरीकेडिग की गई। आसपास धड़ल्ले से दुकान को खोला जा रहा है साथ ही लोग बैरीकेडिग फांदकर आ जा रहे हैं।

दो दिन पहले अकबरपुर चौराहे स्थित नर्सिंग होम में दो कोरोना मरीज मिले थे। इन्हें अस्पताल भेजने के बाद यहां पर बैरीकेडिग कर दी गई, लेकिन मानक का पालन नहीं किया। बैरीकेडिग को अस्पताल तक की सीमित कर लगाया गया जबकि करीब 100 मीटर क्षेत्र तक सील किया जाना चाहिए। वहीं इससे पहले एक अस्पताल में भी कोरोना मरीज मिले थे वहां पर 100 मीटर तक सील किया गया, लेकिन यहां पर इसकी अनदेखी की गई। इससे यहां पर अगल बगल धड़ल्ले से लोग घूम रहे और दुकानें भी खोल रहे हैं। बैरीकेडिग को भी लोग फांदकर कोरोना को दावत दे रहे है। लोग लगातार लापरवाही बरत रहे और खुद ही संक्रमण को बढ़ा रहे वहीं जिम्मेदार भी अनदेखी की तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। एसडीएम आनंद कुमार सिंह ने बताया कि नगर पंचायत की तरफ से बैरीकेडिग की गई थी, इसे कल दिखवाया जाएगा। मानकों का पूरी तरह से पालन सुनिश्चित कराया जाएगा। शिवली में किया गया दवा का छिड़काव

ब्लॉक चिकित्सा प्रभारी डॉ. सिद्धार्थ पाठक की अगुवाई में स्वास्थ्य कर्मियों की टीम ने गांव में एक सैकड़ा लोगों के सैंपल लिए जहां किसी भी व्यक्ति में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई। क्षेत्र में दवा का छिड़काव कराया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस