जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : टोल प्लाजा पर ईंधन व समय की बचत के साथ ही प्रदूषण से राहत दिलाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से वाहनों को फास्टैग करने की व्यवस्था लागू की गई थी। बारा टोल प्लाजा पर 83 फीसद वाहनों को फास्टैग के दावे किए जा रहे हैं, लेकिन इसके बाद भी टोल पर अव्यवस्था कम नहीं हो रही है। सेंसर सही से स्कैन नहीं कर पा रहा है, जिससे वाहन सवारों के समय व ईंधन की बर्बादी हो रही है।

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से नए वर्ष से कैशलेन को खत्म करने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए 15 फरवरी तक समयसीमा बढ़ा दी गई थी। शनिवार को बारा टोल प्लाजा के इटावा से कानपुर जाने वाली लेन पर वाहन सवारों को जाम की समस्या से जूझना पड़ा। कैशलेन ही नहीं बल्कि फास्टैग लेन पर भी वाहनों की कतार लगी रही। बैरियर पर फास्टैग को सही से सेंसर स्कैन नहीं कर पा रहा था ऐसे में कई बार दो से तीन मिनट तक वाहन सवारों को इंतजार करना पड़ा। इस दौरान पीछे वाहनों की कतार लगी रही। यह स्थिति सुबह से शाम तक कई बार रही। टोल से गुजरने वाले 83 फीसद वाहनों को फास्टैग किया जा चुका है। प्राधिकरण की ओर से 15 फरवरी तक का समय बढ़ाया गया है, तब तक अधिक से अधिक वाहनों को फास्टैग किया जाएगा। वहीं वाहन सवारों द्वारा रीचार्ज न कराने व सही से फास्टैग न लगाने के कारण जाम की समस्या होती है।

मनोज शर्मा, डीजीएम बारा टोल

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021