उन्नाव, जेएनएन। पुलवामा हमले के शहीद सैनिक अजीत कुमार आजाद की पत्नी ने ससुराली जनों पर मारपीट, उत्पीडऩ, उगाही, आइटी एक्ट समेत विभिन्न धाराओं में सदर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है। महिला ने आरोप लगाया कि गुरुवार को वह अपना सामान ससुराल लेने गई थी तो वहां उसके साथ ससुराल वालों ने मारपीट की और बच्चों के अपहरण करने की धमकी देते हुए घर से भगा दिया।

पुलवामा हमले में 14 फरवरी 2019 को शहीद हुए सीआरपीएफ जवान शहर के लोक नगर निवासी अजीत कुमार आजाद की पत्नी मीना गौतम ने शहर कोतवाली में गुरुवार को एक शिकायत लेकर पहुंची। पत्र में पुलिस को बताया कि वह वर्तमान में पीडी नगर में रहती हैं। दोपहर में वह ससुराल से अपना सामान लेने के लिए पहुंची थी। तभी ससुर प्यारेलाल, सास राजवंती, देवर सुजीत उर्फ टिंकल, मंजीत उर्फ मोनी, संजीत, देवरानी सुनीता और मीनू ने उसे घर में घुसने से रोका और अभद्र भाषा का प्रयोग किया। विरोध करने पर मारपीट की और 20 लाख रुपये की मांग की। रुपये न देने पर बच्चों का अपहरण करने की धमकी देते हुए भगा दिया।

पति की बाइक तक नहीं दे हरे ससुराल वाले : मीना ने आरोप लगाया है कि ससुराल वाले उसके पति की बाइक भी नहीं दे रहे हैं और उसके तीनों भाइयों को झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। वहीं पुलिस में तैनात देवर संजीत इंटरनेट मीडिया पर उसे लेकर अभद्र टिप्पणी कर रहा है। पीडि़ता ने ससुराली जनों पर कार्रवाई की मांग की है। कोतवाली पुलिस ने मीना गौतम की तहरीर के आधार पर विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है। सदर कोतवाली प्रभारी अनिल सिंह ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। 

Edited By: Akash Dwivedi