कानपुर, जेएनएन। घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र के गांव रामसारी में प्रधान के अधिवक्ता पति की हत्या मामले में पुलिस कार्रवाई से असंतुष्ट ग्रामीण गुरुवार की दोपहर सड़क पर उतर आए। सड़क जाम करके पुलिस द्वारा पूर्व प्रधान को बचाने और पक्षपात का आरोप लगाकर नारेबाजी शुरू कर दी। सड़क पर दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस बीच केंद्रीय मंत्री पहुंच गईं और उन्होंने ग्रामीणों को न्याय दिलाने का आश्वासन देकर जाम खुलवाया।

बीते शुक्रवार की रात रामसारी गांव में आवास के बाहर प्रधान के अधिवक्ता पति सत्येंद्र भदौरिया की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने गांव के संदीप सिंह उर्फ गुरु को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा है। परिजन पुलिस कार्रवाई से संतुष्ट नही हैं, उनका आरोप है कि साजिश में गांव का पूर्व प्रधान भी शामिल है। पुलिस उसे बचाने का प्रयास कर रही है।

गुरुवार की दोपहर पीडि़ता प्रधान पूजा सिंह भदौरिया व भाई उपेंद्र सिंह के साथ ग्रामीण महिलाओं व पुरुषों ने मुख्य चौराहे पर जाम लगा दिया। उनके समर्थन में अधिवक्ता भी सड़क पर उतर आए। करीब एक घंटे तक जाम व हंगामा जारी रहने से सड़क पर दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस बीच केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति भी पहुंच गईं और गाड़ी से उतर कर परिजनों व अधिवक्ताओं से बातचीत की।

केंद्रीय मंत्री ने दोषी पाए जाने पर पूर्व प्रधान की गिरफ्तारी व मृतक अधिवक्ता के आश्रितों को 50 लाख रुपये मुआवजे की मांग मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का आश्वासन देकर जाम खुलवाया। प्रधान पूजा सिंह व बार एसोसिएशन के महामंत्री शिव सिंह परमार ने केंद्रीय मंत्री को ज्ञापन भी सौंपा। प्रभारी निरीक्षक आरबी सिंह ने कहा कि रोड जाम करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। हत्या के मामले में विवेचना व तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप