कानपुर, जागरण संवाददाता। उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी से ट्रफ रेखा यूपी के दक्षिणी क्षेत्र से होकर गुजरने से भारी बारिश की संभावना बनी है। बीते दिनों से बारिश का सिलसिला गुरुवार को भी जारी रहा। देर शाम एक घंटे की बारिश के साथ बिजली की तेज तड़तड़ाहट से लोग सहमे रहे। बिधनू में वज्रपात से बच्चे की मौत हो गई, वहीं भारी बारिश का अलर्ट जारी होने के बाद डीएम ने स्कूलों में शुक्रवार को अवकाश घोषित कर दिया है।

कानपुर शहर में बारिश का सिलसिला बीते कुछ दिनों से जारी है। गुरुवार को भी सुबह से आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही और बूंदाबांदी होती रही। देर शाम अचानक काले बादल छाते ही करीब पांच बजे तेज बारिश शुरू हुई तो आसमान में बिजली की तड़तड़ाहट का सिलसिला शुरू हो गया। करीब आधा घंटे बिजली गिरने की तेज आवाजें लोगों को डराती रहीं। लोग घरों के अंदर बच्चों को लेकर सहमे बैठे रहे। बारिश थमी तो शहर की सड़कों और गलियों में जलभराव की समस्या हो गई। गुरुवार को सीएसए के मौसम विभाग ने 34.2 मिमी बारिश दर्ज की है।

भारी वर्षा के अलर्ट पर स्कूलों में अवकाश घोषित

कानपुर डीएम विशाख जी ने भारी वर्षा का अलर्ट मिलने पर कक्षा एक से 12 तक के यूपी, सीबीएसई, आइसीएसई सहित समस्त बोर्ड द्वारा संचालित सरकारी व गैर सरकारी विद्यालयों में 23 सितंबर को अवकाश घोषित कर दिया है। डीआइओएस रामिकशोर व बेसिक शिक्षा अधिकारी सुरजीत कुमार सिंह ने सभी स्कूल संचालकों को आदेश का सख्ती से पालन करने के आदेश जारी किए हैं।

बिजली गिरने से बच्चे की माैत

बिधनू के कल्याणपुर गांव में गुरुवार शाम बारिश के दौरान खेत में घास काट रहे किसान 40 वर्षीय रामबाबू वर्मा और उनका नौ वर्षीय बेटा कपिल बिजली गिरने से गंभीर रूप से झुलस गए, जबकि दो बकरियां मर गईं। स्वजन ने ग्रामीणों की मदद से गंभीर रूप से झुलसे पिता-पुत्र को कांशीराम अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डाक्टर ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। किसान रामबाबू की हालत गंभीर बनी हुई है। बेटे का शव देखकर मां शांति गश खाकर गिर पड़ी। बड़े भाई अनिल ने बताया कि कपिल कक्षा चार में पढ़ता था और स्कूल से लौटने के बाद पिता के पास खेत पर गया था।

दक्षिण यूपी के ऊपर गुजर रही उत्तर-पश्चिम बंगाल की ट्रफ रेखा

सीएसए कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन पांडेय ने बताया कि देश भर में बने मौसमी सिस्टमो को बताया की कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण उत्तर प्रदेश के आसपास के हिस्सों पर बना हुआ है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर फैला है। एक ट्रफ रेखा उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी से पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश और सटे दक्षिण उत्तर प्रदेश पर कम दबाव के क्षेत्र से जुड़े चक्रवाती परिसंचरण से होकर गुजर रही है। इससे तेज बारिश की संभावना बनी हुई है।

एक नजर में मौसम का हाल

अधिकतम तापमान : 30.2 (-2.4) डिग्री से.

न्यूनतम तापमान : 24.0 (-0.4) डिग्री से.

आर्द्रता : अधिकतम 90  प्रतिशत और न्यूनतम 92 प्रतिशत

हवा की दिशा और गति : दक्षिण पूर्वी एवं 4.5 किमी/घंटा

पूर्वानुमान  : आइएमडी के पूर्वानुमान के अनुसार पांच दिनों में बादल छाए रहने के कारण वर्षा होने के आसार हैं।

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट