चित्रकूट, जेएनएन। प्रदेश के कुख्यात साढ़े छह लाख रुपये के इनामी डकैत बबुली कोल के गिरोह के बचे सदस्यों को अब पुलिस तलाश रही है। इसी क्रम में गुरुवार की सुबह यूपी एसटीएफ और चित्रकूट पुलिस की पाठा के जंगलों में बबुली कोल के गिरोह के डकैतों से मुठभेड़ हो गई। कई राउंड फायरिंग के बाद पुलिस टीम ने गिरोह के इनामी डकैत को गिरफ्तार करके आधुनिक असलहे भी बरामद किए हैं। यह असलहे बबुली कोल व लवेलश कोल के मारे जाने के बाद गैंग के सदस्य लेकर भाग निकले थे।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पुलिस के बिछाए जाल में फंसने के बाद इनामी डकैत बबुली व लवेलश कोल का अंत हो गया। मुठभेड़ के दौरान गिरोह के सरगना के मारे जाने पर अत्याधुनिक असलहे लेकर इनामी डकैत संजय उर्फ सोहन कोल भाग गया था। यूपी एसटीएफ और चित्रकूट पुलिस एसपी मनोज कुमार झा, एएसपी बलवंत चौधरी की अगुवाई वाली टीम उसकी तलाश में लगी थी। गुरुवार को पाठा के जंगलों में एसटीएफ के साथ मारकुंडी, मानिकपुर व बहिलपुरवा पुलिस ने सोहन के दिखने पर घेराबंदी की तो उसने फायरिंग शुरू कर दी। जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग करते हुए एक लाख के इनामी सोहन कोल को दबोच लिया। उसके कब्जे से अत्याधुनिक असलहे भी बरामद हुए हैं।

अब बबुली-लवलेश की मौत का खुल सकता रहस्य

मध्यप्रदेश पुलिस के डाकू बबुली कोल व लवलेश कोल को मुठभेड़ में मार गिराने के दावे को लेकर भी अब राज खुल सकते हैं। मौत मुठभेड़ में हुई या गैंगवार में यह सच्चाई भी सामने आ सकती है। एसटीएफ इस बिंदु पर भी उससे पूछताछ कर रही है।

गैंग की फायर पॉवर भी हुई खत्म

चित्रकूट के जंगलों में बबुली कोल गैंग से एसटीएफ व पुलिस की मुठभेड़ में बरामद असलहों से अब उसकी फायर पॉवर खत्म हो गई है। डकैत के पास से दो स्प्रिंग फील्ड रायफल, एक 315 बोर की रायफल और 100 कारतूस बरामद हुए हैं।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप