कानपुर, जेएनएन। विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए भारतीय जनता पार्टी अगस्त की शुरुआत से ही बूथ समितियों के सत्यापन का कार्य शुरू कर देगी लेकिन इससे पहले विधानसभा प्रभारी और विधानसभा संयोजकों की घोषणा की जाएगी।

भारतीय जनता पार्टी विधानसभा चुनाव से पहले 15 अगस्त से 15 सितंबर के बीच बूथ समितियों का सत्यापन करने की तैयारी कर रही है। पार्टी यह देखेगी कि उसकी बूथ समितियां ठीक से काम कर रही हैं या नहीं। जहां बूथ समितियों में कोई कमी पाई जाएगी, उस कमी को तुरंत दूर किया जाएगा। इन समितियों का सत्यापन किस तरह किया जाएगा, इसको लेकर 15 अगस्त को बूथ समितियों का सत्यापन शुरू होने से पहले नौ से 15 अगस्त के बीच इसके लिए पूर्व तैयारी की जाएगी।

सत्यापन के लिए विधानसभा क्षेत्र के स्तर पर बैठकें होंगी। इसमें विधानसभा प्रभारी, विधानसभा संयोजक, मंडल प्रभारी, मंडल अध्यक्ष, मंडल महामंत्री, शक्ति केंद्र संयोजक और प्रभारी शामिल होंगे। इन बैठकों में ही पूरी योजना तैयार की जाएगी। हालांकि इन बैठकों से पहले विधानसभा प्रभारी और संयोजकों की घोषणा की जाएगी।

बूथ समितियों के सत्यापन का कार्य शक्ति केंद्र के अनुसार होगा। जिला, क्षेत्र व प्रदेश स्तर के पदाधिकारी एक-एक बूथ समिति का सत्यापन करेंगे। समिति का सत्यापन बूथ समिति की बैठक में ही किया जाएगा। बूथ समितियों का सत्यापन कर इनकी सूची ऊपर भी भेजी जाएगी। इसके अलावा बूथ समिति के कार्यकर्ताओं में से मतदाता सूची के एक-एक पन्ने का प्रमुख बनाना है। ये लोग नियमित रूप से अपने पन्ने में जो मतदाता हैं, उनसे संपर्क करेंगे।

Edited By: Shaswat Gupta