उन्नाव, जागरण संवाददाता। गिरोहबंद क्रियाकलापों में लिप्त होकर सरकारी जमीन बेचने में भू-माफिया घोषित किए सपा के पूर्व जिला महासचिव सुरेश पाल की संपत्ति पर प्रशासन और पुलिस ने शिकंजा कसा है। डीएम के निर्देश पर एसडीएम और सीओ ने गंगाघाट पुलिस के साथ राजधानी मार्ग स्थित जमीन जब्त करके नोटिस चस्पा की गई है।

सपा के पूर्व महासचिव शुक्लागंज के सुभाष नगर निवासी सुरेश पाल पर धोखाधड़ी, हत्या का प्रयास, मारपीट, बलवा, समेत गंभीर धाराओं में 22 मुकदमें दर्ज है। जिसमें 16 मुकदमें कानपुर के चकेरी थाना में दर्ज हैं। सरकारी जमीन कब्जा कर बेचने में उस पर भू-माफिया एक्ट के तहत गंगाघाट कोतवाली में कार्रवाई की गई थी।

इसके अलावा गैंगस्टर भी लगाया गया था। पुलिस ने गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेजा था। प्रशासन और पुलिस ने उसके द्वारा कब्जा की गई जमीनों को चिह्नित करना शुरू किया।

शुक्रवार को जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे के निर्देश पर एसडीएम सदर अंकित शुक्ला व सीओ सिटी आशुतोष कुमार ने पुलिस बल के साथ राजधानी मार्ग पर उनके द्वारा कब्जा की गई 1.10 करोड़ कीमत की भूमि को जब्त कर नोटिस चस्पा कर वहां सरकारी बोर्ड लगवा दिया। बोर्ड में लिखा गया है कि इस संपत्ति को क्रय और विक्रय करना कानूनी रूप से अपराध है।

गंगाघाट कोतवाली प्रभारी अखिलेश चंद्र पांडेय ने बताया कि भू-माफिया के खिलाफ कोतवाली में गैंगस्टर की कार्रवाई की गई थी। इसी के तहत आरोपित की संपत्ति धारा 14 (1) के तहत जब्त की गई है। 

Edited By: Nitesh Mishra