जेएनएन, कानपुर : रविवार की छुंट्टी पर गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र की जाजमऊ चौकी के पास खाली पड़े हॉटमिक्स प्लांट में भरे बाढ़ के पानी में खेलते समय चकेरी के दो दोस्त गहरे गड्ढे में डूब गए। इससे उनकी मौत हो गई। अन्य दोस्तों के शोर मचाने पर मछुआरों ने काफी मशक्कत के बाद दोनों के शव निकाले।

चकेरी थानाक्षेत्र के छबीलेपुरवा निवासी फैक्ट्री कर्मी शफी उर्फ छोटू (19) रविवार सुबह दोस्त इमामुद्दीन (26), इस्लाम (20) निवासी नई बस्ती जाजमऊ और कैंट निवासी मो. सैफ के साथ जाजमऊ पुल की ओर घूमने निकला। वहां से चारों ने इखलाक नगर में एक होटल पर नाश्ता किया और यहीं प्लास्टिक की गेंद लेने के बाद जाजमऊ चौकी के ठीक सामने खाली पड़े हॉटमिक्स प्लांट में भरे बाढ़ के पानी में खेलने लगे। इसी दौरान शफी गहरे गढ्डे में डूब गया। उसकी चीख सुनकर बचाने पहुंचा इमामुद्दीन भी गहराई में समा गया। बाकी दोनों साथियों ने शोर मचाकर राहगीरों को बुलाया। इसके बाद कुछ मछुआरों ने आकर युवकों की तलाश शुरू की। इस बीच गंगाघाट पुलिस भी पहुंची। काफी मशक्कत के बाद मछुआरों ने दोनों के शव बाहर निकाले। शव देखते ही परिवारों में कोहराम मच गया। कोतवाल गंगाघाट दिनेश चंद्र मिश्र ने परिजन को सूचना दी। इस पर जाजमऊ से मृतकों के परिजन पहुंचे और शव देख बेहाल हो गए। रिश्तेदारों ने बताया कि इमामुद्दीन की पत्नी रोजी दिव्यांग है। पांच भाइयों में तीसरे नंबर का था। चारों दोस्त फैक्ट्री में बेल्ट बनाने का काम करते थे। शफी परिवार में बड़ा बेटा था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस