जागरण संवाददाता, कानपुर : गंगा की धारा को रोकने और उसे भैरोघाट पंपिग स्टेशन की तरफ मोड़ने के लिए जलकल विभाग ने गुरुवार से अस्थायी बंधा बनाना शुरू कर दिया है। शुक्लागंज की तरफ जा रहे पानी को रोकने के लिए बालू की बोरियों की दीवार लगाई जा रही है, ताकि जल भैरोघाट की तरफ जाए। दैनिक जागरण द्वारा सक्रियता दिखाने के बाद अफसरों ने अस्थायी बंधा बनाने का फैसला लिया। इसके तहत चालीस मजदूर लगाकर प्लास्टिक की बोरियों में बालू भरकर दीवार बनाई जा रही है। दो सौ मीटर लंबा, ढाई मीटर चौड़ा व छह मीटर गहरा बंधा बनना है। लगभग 80 हजार बालू की बोरियां लगाईं जानी हैं। बंधा बनाने में दस लाख रुपये का खर्च आएगा।

बर्रा सात में दस लाख रुपये से बिछेगी पाइप लाइन

जागरण संवाददाता, कानपुर : बर्रा सात में पानी की किल्लत जल्द दूर होने वाली है। अवर अभियंता ने गुरुवार को क्षेत्र का निरीक्षण कर कार्ययोजना तैयार की। 15वें वित्त में प्रस्तावित इस प्रोजेक्ट पर दस लाख रुपये की लागत आएगी।

बर्रा सात की पांच गलियों में पानी की लाइन नहीं पड़ी हैं। लोग जलकल को हर वर्ष टैक्स जमा करते हैं। इसके बाद भी सुविधा नहीं मिल रही। इसको लेकर क्षेत्र के चकित सिंह 26 दिन की हड़ताल के बाद पिछले पांच दिनों से आमरण अनशन पर बैठे थे। गुरुवार को जलकल महाप्रबधंक नीरज गौड़ ने अवर अभियंता अनिल यादव को नोटिस जारी कर आमरण अनशन पर बैठे चकित के बारे में पूछा। इसके बाद अधिकारियों ने चकित को आश्वासन देकर उनका अनशन खत्म कराया।