कानपुर, जागरण संवाददाता। जिले में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढऩे के बावजूद किशोर-किशोरियों के वैक्सीनेशन में सुस्ती बरकरार है। स्वास्थ्य महकमा 18 दिन में किशोर-किशोरियों का वैक्सीनेशन 50 प्रतिशत भी नहीं कर सका है। जिले में अब तक महज 1,28,838 किशोर-किशोरियों को वैक्सीन का सुरक्षा कवच ही प्रदान किया जा सका है, जो 41.25 प्रतिशत है। शासन ने 22 जनवरी तक लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया था, जो एक दिन में पूरा होना असंभव है।

जिले में 15-17 आयुवर्ग के 3,12,311 किशोर किशोरियों को वैक्सीन लगाई जानी है। इसकी शुरूआत तीन जनवरी से की गई है। शासन ने पहले 20 जनवरी और अब 22 जनवरी तक पूरा करने का लक्ष्य दिया था। किशोर-किशोरियों के वैक्सीनेशन में तेजी लाने के लिए जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर लगातार प्रयासरत हैं। उन्होंने ग्रीनपार्क स्टेडियम में मेगा वैक्सीनेशन सेंटर बनवाया, ताकि वहां के 10 सेंटर में किशोर-किशोरियों का तेजी से वैक्सीनेशन कराया जा सके। साथ ही स्कूल-कालेजों व शिक्षण संस्थानों में अधिक से अधिक वैक्सीनेशन सेंटर बनवाकर वैक्सीन लगवा रहे हैं। इसमें तेजी लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं, लेकिन महकमे के अफसरों की सुस्ती नहीं टूट रही है।

-किशोर वैक्सीनेशन के लिए 22 जनवरी तक का लक्ष्य दिया गया है, जबकि व्यस्कों को दूसरी डोज 31 जनवरी तक पूरा करना है। वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने के लिए मंडल के सभी सीएमओ निर्देश दिए हैं। कानपुर नगर में तेजी लाने के निर्देश अलग से दिए हैं। -डाॅ. जीके मिश्रा, अपर निदेशक, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण।

Edited By: Abhishek Agnihotri