बांदा, जागरण संवाददाता। पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी से उसके दोनों पुत्रों ने रविवार को मुलाकात की। जहां मुख्तार ने बेटों से मुकदमों की पैरवी के बारे में जानकारी ली। पुत्र भी उसके स्वास्थ्य व सुरक्षा के बारे में बातचीत करते रहे।

पंजाब के रोपड़ की रूपनगर जेल से मुख्तार अंसारी को सात अप्रैल वर्ष 2019 को मंडल कारागार भेजा गया था। तभी से वहां यहां बंद है। आन लाइन पेशी होने के साथ समय-समय पर उसकी सुरक्षा व्यवस्था व उपचार को लेकर उसके स्वजन सवाल खड़े करते रहे हैं। रविवार दोपहर मुख्तार से मिलने उसका मऊ सदर सीट से विधायक बड़ा बेटा अब्बास अंसारी व छोटा बेटा उमर जेल पहुंचे। वहां मुलाकात के पहले की पूरी कागजी कार्रवाई व कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्टे देखी गईं।

इसके बाद उन्हें मुलाकात हाते के पास मिलने दिया गया। जहां दोनों बेटों व मुख्तार के बीच करीब आधा घंटे तक गुफ्तगू होती रही है। इस दौरान सुरक्षा के लिहाज से जेल के वार्डन व कैमरे पूरी तरह सक्रिय रहे। जेल वार्डन हरपल दूर से उन पर नजर रखे रहे। मुलाकात के दौरान मुख्तार ने स्वास्थ्य के संबंध में कुछ समस्याएं भी बताई हैं। जेल डीआइजी संजीव त्रिपाठी ने बताया कि जेल नियमावली के हिसाब से मुख्तार की भी अन्य बंदियों की तरह मुलाकात कराई जाती है। इसमें नई बात कोई नहीं है।

Edited By: Abhishek Verma