कानपुर, जेएनएन। बीते वर्ष अगस्त माह में सजेती के धुरुपुर गांव से लापता हुए युवक का अपहरण कर हत्या के बाद शव यमुना में फेंक दिया गया था। सोमवार को पुलिस के हत्थे चढ़े इनामी अपराधी ने वारदात कबूल की लेकिन पुलिस शव बरामद नहीं कर सकी। हालांकि आरोपितों की निशानदेही पर रस्सी, आधार कार्ड आदि बरामद कर लिया है।

पिछले साल हुई थी हत्या

सजेती के धुरुपुर गांव निवासी रामप्रकाश पिछले साल अगस्त में लापता हो गया था। उसकी पत्नी ने ग्राम प्रधान के पति बलवंत, हेमराज और दिनेश सचान उर्फ कल्लू बाबा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने बलवंत और हेमराज को गिरफ्तार कर कोर्ट में चार्ज शीट दाखिल की थी लेकिन कल्लू फरार था। कल्लू पर बर्रा में भी हत्या का एक मुकदमा दर्ज था। इसपर एसएसपी ने कल्लू पर पचास हजार का इनाम घोषित किया।

मुंबई में मिली लोकेशन

सजेती पुलिस ने उसकी तलाश कर रही थी। सर्विलांस से उसकी लोकेशन मुंबई में मिली। रविवार की रात सजेती पुलिस ने मुंबई पुलिस की मदद से आरोपित कल्लू को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने रामप्रकाश की अपहरण कर हत्या की स्वीकारोक्ति की। साथ ही हत्या में शामिल रहे साथियों विजय कुमार, गयादीन तिवारी, छोटे यादव, हेमराज के नाम भी बताए। हेमराज जमानत पर छूटने के बाद जिलाबदर होने के बाद भी गांव में रह रहा था। सोमवार को पुलिस ने हत्या में शामिल रहे अन्य चार आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया।

लूट व हत्या में वांछित था कल्लू

पुलिस की पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि छोटे के ट्यूबवेल पर रामप्रकाश की हत्या करने के बाद शव को यमुना नदी में फेंक दिया था। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर रामप्रकाश का आधारकार्ड, हत्या में प्रयुक्त रस्सी अदि बरामद कर ली। एसपी ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि कल्लू एक दर्जन से अधिक आपराधिक वारदातों को अंजाम दे चुका है। बर्रा में लूट व हत्या के एक मामले में भी वह वांछित था। मामले में हत्या, साक्ष्य मिटाने की धाराएं बढ़ा दी गई हैं।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप