कानपुर, जेएनएन। जिले में कोरोना संक्रमितों की कॉनटेक्ट ट्रेसिंग के साथ ही आरटीपीसीआर की रिपोर्ट जल्द ही मिल सकेगी। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी लैब में 24 घंटे आरटीपीसीआर की जांचें हो सकेंगी। नेशनल हेल्थ मिशन की ओर से लैब के लिए पांच लैब तकनीशियन और चार डेटा इंट्री ऑपरेटर मिल गए हैं। इससे आरटीपीसीआर की रिपोर्ट जल्दी आ सकेगी। मौजूदा समय में हैलट अस्पताल के मैटरनिटी कोविड विंग से जांच कराने पर 24 घंटे में रिपोर्ट आ जाती है, जबकि अन्य केंद्रों से 24 घंटे का समय लगता है। यहां आरटीपीसीआर की तीन मशीनें हैं, जिससे तीन चरणों में 1500-1500 सैंपल की जांच होती है। एक दिन में अधिकतम 3500 की क्षमता है।

केस बढऩे पर चार हजार तक सैंपल लगाए जा रहे हैं। कानपुर में एक्टिव केस में एकदम से इजाफा हुआ है। इनसे संपर्क में आए लोगों की पहचान के लिए टेस्टिंग बढ़ाई जा रही है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं। एंटीजन के साथ ही आरटीपीसीआर की जांच हो रही है। रविवार को केस बढऩे पर आरटीपीसीआर की मशीनों को लगातार चलाया गया, जिससे वह गर्म हो गईं। उन्हेंं कुछ घंटे के लिए बंद किया गया। फिर उससे जांचें शुरू कराईं गईं।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप