कानपुर, जेएनएन। कोरोना के प्रकोप के दौरान एक ओर जहां संघ सेवा कार्यो में लगा है। वहीं दूसरी ओर इससे बचाव के लिए अध्यात्मिक शक्तियों को भी जगाने की तैयारी में है। इसके लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने प्रांतीय स्तर पर व्यापक तैयारी की है। 26 अप्रैल को अक्षय तृतीया के दिन 3.22 लाख स्वयंसेवकों के परिवार हवन करके कोरोनो मुक्ति और मानव कल्याण की कामना करेंगे।

संघ के कानपुर क्षेत्र संघचालक ज्ञानेंद्र सचान और कानपुर प्रांत के प्रचार प्रमुख अनुपम ने मंगलवार को यह जानकारी फोन पर हुई प्रेस कांफ्रेंस के दौरान दी। उन्होंने कहा कि केवल कानपुर महानगर में ही इस हवन में सवा लाख परिवार शामिल होंगे। यह काम शुभ मुहूर्त में सुबह सात बजे से डेढ़ बजे दोपहर तक आयोजित किया जाएगा। यही नहीं उन्होंने बताया कि स्वच्छता कर्मी इस दौरान बेहद सेवा भाव से काम कर रहे हैं। इसलिए संघ की ओर से इन्हें सम्मानित किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 23 अप्रैल को पूरे प्रांत में 1346 बस्तियों में एक साथ स्वच्छताकर्मियों का सम्मान किया जाएगा। इस दौरान उन्हें मास्क, अंगवस्त्र और सेनिटाइजर भेंट किए जाएंगे। यह कार्यक्रम संघ के आयाम सेवा विभाग की ओर से किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने कानपुर प्रांत में चलाए जा रहे सेवा कार्यो की विस्तार से जानकारी दी।

कानपुर प्रांत अतर्गत संघ की दृष्टगत 21 तथा प्रशासनिक 14 जिलों में 430 अन्नपूर्णा रसोई स्थापित की गई हैं। यहां प्रतिदिन 50 हजार लोगों के भोजन की व्यवस्था की जा रही है। कुछ स्वयंसेवक अपने परिवार के माध्यम से 100-200 भोजन पैकेट बनाकर गरीबों में बांट रहे हैं। प्रान्त में 770 स्वयंसेवकों ने एक-एक परिवार को गोद ले रखा है। इस संपूर्ण व्यवस्था में शरीरिक दूरी को ध्यान में रखते हुए दो हजार स्वयंसेवक लगाए गए हैं।

Posted By: Abhishek Agnihotri

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस