कानपुर, जेएनएन। कोरोना काल के दौरान बिना किसी स्वार्थ लोगों की सेवा करने वालों से संपर्क विभाग की टोलियों ने संपर्क बढ़ाया। वे चाहे किसी भी वर्ग से जुड़े हुए हों, उनसे संपर्क किया गया। यह चर्चा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के संपर्क विभाग की अखिल भारतीय बैठक में हुई। कानपुर में शुरू हुई बैठक में दिनभर पदाधिकारी अलग-अलग राज्यों से पहुंचेे। अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख रामलाल और अखिल भारतीय कार्यकारिणी सदस्य सुरेश सोनी आज आ रहे हैं। तब बैठक में पिछले कार्यों पर चर्चा भी होगी और भविष्य की योजनाएं भी तैयार की जाएंगी। 

लगातार हो रही बारिश के बीच शुक्रवार को साकेत नगर स्थित गेस्ट हाउस में संपर्क विभाग की अखिल भारतीय बैठक शुरू हुई। अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख रमेश अप्पा ने देशभर से आए क्षेत्र संपर्क प्रमुखों व प्रांत संपर्क प्रमुखों के साथ बैठकें कीं। 44 प्रांतों में प्रमुख रूप से कौन-कौन बैठकों में आ गया है, कौन-कौन नहीं आ पा रहा और कितने लोग अभी यात्रा में हैं, इनकी जानकारी ली। मुख्य बैठक हालांकि शनिवार से होनी है, लेकिन विभिन्न शुक्रवार को हुईं बैठकों में कोरोना को लेकर चर्चाएं हुईं। संघ ने तय किया था कि कोरोना के दौरान जो लोग भी सेवा कार्य कर रहे हैं, उनसे संपर्क किया जाए। अब दूसरे दिन शनिवार को संपर्क विभाग के पिछले एक वर्ष में किए गए कार्यों पर चर्चा होगी। इसके बाद अगले दिन भविष्य की योजनाएं तैयार की जाएंगी।

पिछले वर्ष कोरोना की वजह से नहीं हुई थी बैठक : पदाधिकारियों के मुताबिक पिछले वर्ष संपर्क विभाग की अखिल भारतीय बैठक कानपुर में ही होनी थी, लेकिन कोरोना की वजह से बैठक टल गई थी। इसके बाद बैठक अब हो पा रही है।

Edited By: Abhishek Agnihotri