संवाद सहयोगी,चौबेपुर : दो दिन से लगातार हो रही बारिश चौबेपुर के किशुनपुर गांव के दो गरीब परिवारों के लिए काल बन गई। शुक्रवार की दोपहर घर के बाहर खेल रहे दो मासूम भाई व चचेरी बहन की कच्ची दीवार ढहने से मलबे के नीचे दबकर मौत हो गई। डीएम ने पीड़ित परिवार को मुख्यमंत्री आपदा राहत से चार-चार लाख की सहायता धनराशि दिलाने के आदेश दिए हैं।

किशुनपुर गांव निवासी हरिओम शर्मा के घर के सामने दिनेश के खाली पड़े मवेशी बाड़े की कच्ची दीवार बारिश की वजह से भरभराकर ढह गई। घटना के समय हरिओम के बेटे छह वर्षीय टिंकू व चार वर्षीय विवेक तथा चचेरे भाई शिवकांत की तीन वर्षीय पुत्री एकता व चार वर्षीय पुत्र छोटू वहीं पर खेल रहे थे। दीवार ढहने से उसके मलबे में चारों बच्चे दब गए। बच्चों की चीख सुन कर दौड़ी घर की महिलाओं द्वारा शोर मचाने पर गांव के लोगों ने मलबे को हटाकर चारों बच्चों को बाहर निकाला। सिर में गंभीर चोट आने से टिंकू व विवेक ने कुछ ही देर में दम तोड़ दिया। जबकि, एकता की उपचार से पहले ही कस्बा के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। हादसे में छोटू बच गया। ग्रामीणों ने बताया कि बारिश के चलते दीवार जर्जर हो गई थी। इसी वजह से ढह गई। गांव में मासूम बच्चों की मौत से माहौल गमगीन हो गया। सूचना पर एसडीएम बिल्हौर बीएस लक्ष्मी व सीओ बिल्हौर मौके पर पहुंचे। बाद में डीएम कानपुर ब्रम्ह देव राम तिवारी व एडीएम वित्त वीरेंद्र पांडेय ने घटना स्थल पर पहुंच कर स्वजनों को ढाढस बंधाया। उन्होंने अधिकारियों से परिवार को हर संभव सहायता दिलाने के निर्देश दिए। एसडीएम बिल्हौर ने बताया कि डीएम ने मृतक मासूम बच्चों के आश्रितों को सहायता राशि दिलाने के निर्देश दिए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस