इटावा, जेएनएन। सिविल लाइन थाना क्षेत्र के ग्राम नगला पीर में रविवार की रात के बाद खेत में खरबूजा तोड़ने से मना करने पर बदमाशों ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना की जानकारी के बाद गांव में सनसनी फैल गई। पुलिस ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के किसान पति से पूछताछ के बाद हत्यारोपितों की तलाश शुरू की है। वारदात के बाद गांव में लोगों के बीच आक्रोश का माहौल है।

सीओ सिटी राजीव प्रताप सिंह ने बताया कि ग्राम निवासी रानिवास ने खेत में खरबूजे की फसल तैयार की है। रामनिवास के खेत के बगल में उनके भाई का खेत है, जो रात्रि में सो रहा था। उसने खेत में बदमाशों की चहलकदमी देखी तो फोन करके भाई रामनिवास व उनकी पत्नी सदा को बुला लिया। रामनिवास अपनी पत्नी 40 वर्षीय आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सदा और दो बेटों के साथ खेत पर पहुंच गए।

सभी मिलकर रविवार रात में फसल की रखवाली करने लगे। रात के समय बदमाश पहुंच गए और खरबूजा तोड़ने का प्रयास करने लगे। परिवार ने टोका तो बदमाशों ने तमंचे से फायर कर दिये और गोली सीने में लगने से सदा लहूलुहान होकर गिर पड़ी। खून बह जाने से उसकी मौके पर ही मौत मौत हो गई। सीओ सिटी ने बताया कि देर रात जब उन्हें अस्पताल लाया गया तो उनकी मौत हो चुकी थी। बदमाशों की तलाश की जा रही है।