जागरण संवाददाता, कानपुर : बर्रा के तात्याटोपेनगर से भौंती की ओर जाने वाले भौंती-रूमा फ्लाईओवर की सर्विस रोड पर गड्ढों की वजह से वाहनों की रफ्तार थमी रही। इस वजह से एक किमी लंबा जाम लग गया। तीन एंबुलेंस और एक पीआरवी भी जाम में फंसी रहीं।

रविवार को तात्याटोपेनगर मोड़ से गुजैनी पांडु नदी पुल तक भीषण जाम लगा रहा रहा। देर शाम तक यहां स्थिति सामान्य नहीं हो सकी। एनएचएआइ के परियोजना निदेशक पंकज मिश्रा ने बताया कि सर्विस रोड पर लोड ज्यादा होने की वजह से सड़क खराब हुई है। बारिश के बाद इसका निर्माण कराया जाएगा।

-----------------

बर्रा सात की सर्विस रोड पर शुरू हुआ काम

भौंती से रामादेवी की तरफ जाने वाली सर्विस रोड पर बर्रा सात के पास जलकल ने पाइप लाइन मरम्मत के लिए खोदाई की थी। यहां गड्ढों की वजह से वाहन सवार गिरकर चुटहिल हो रहे थे। रविवार को यहां सड़क ठीक करने का काम शुरू हो गया।

कोरोना की पाबंदियों के बीच मनाया जाएगा मोहर्रम

जासं, कानपुर : कोरोना संक्रमण के चलते पाबंदियों के बीच मोहर्रम मनाया जाएगा। मोहर्रम शुरू होने में 10 दिन रह गए हैं। कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए घरों व इमाम बारगाहों में मजलिस आयोजित कर मातम किया जाएगा।

मोहर्रम का महीना शुरू होते ही हजरत इमाम हुसैन और उनके साथियों की शहादत को याद करने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। मोहर्रम में 10 दिनों तक जुलूस निकाले जाते हैं। पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण की वजह से जुलूस नहीं निकले थे। इमाम चौकों पर ताजिया भी नहीं रखे गए थे। ताजियादारी, मातम और मजलिसें घरों में ही हुई थी। इस वर्ष ईद व बकरीद कोविड प्रोटोकाल के तहत मनाई गई। मोहर्रम में भी यही स्थिति रहेगी। मोहर्रम को लेकर शनिवार को पुलिस अधिकारियों व ताजियादारों की बैठक भी हुई है। कहा गया कि पिछले वर्ष की गाइडलाइन के मुताबिक मोहर्रम मनाया जाएगा। वहीं हुसैनी फेडरेशन के प्रवक्ता डा. जुल्फिकार अली रिजवी ने कहा कि जुलूस निकालने के लिए प्रशासन से इजाजत लेने के प्रयास किए जा रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों के निर्देशों पर अमल किया जाएगा।

Edited By: Jagran