नशे में पति ने घर में लगाई आग, पड़ोसियों ने बुझाई

दानगर निवासी कार चालक गुजंन पत्नी रेनू और बेटे आकाश के साथ रहता है। पत्नी का आरोप है कि गुंजन शराब का लती है। जिसको लेकर घर पर आए दिन विवाद होता है। विवाद से परेशान होकर रेनू बेटे को लेकर मायके चली गई। पड़ोसियों ने बताया कि मंगलवार को गुंजन शाम को शराब पीकर घर लौटा तो रेनू  के न मिलने पर उससे फोन पर बात की। उसके बाद उसने कमरे में रखे कपड़ों में आग लगा दी। धुंआ निकलता देख लोगों ने पुलिस को सूचना दी और आग बुझाई। वह मौके से भाग निकला।

नौवीं की छात्रा संदिग्ध दशा में लापता

गोविंद नगर क्षेत्र निवासी परचून दुकानदार  की 15 वर्षीय नौवीं की छात्रा है। पिता के मुताबिक, वह बेटी को सुबह गोविंद नगर स्थित कोचिंग छोड़ कर घर आ गए थे। देर शाम तक वह नहीं लौटी तो कोचिंग में जाकर शिक्षक से बात की। जहां बताया कि बेटी काफी हले जा चुकी है। काफी खोजने के बाद थाने में अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस उसकी तलाश में लगी है।

प्लाट पर कब्जा कर मांगी रंगदारी, विरोध पर मारपीट व छेड़खानी

चकेरी निवासी महिला ने बताया कि उनके ससुर ने सैनिक नगर में प्लाट खरीदा था, जहां उन्होंने दाल मिल चलाने के लिए मशीन लगाई थी। जिसकी देखरेख उनके ससुर ने एक व्यक्ति को दी थी। कोरोना काल में ससुर की मौत के बाद बीती 19 जून को देखभाल करने वाले ने अपना ताला डाल दिया। विरोध करने पर उसने प्लाट खाली करने के एवज में 50 लाख रुपये मांगे। साथ ही अपने साथियों के साथ मिलकर मारपीट और छेड़खानी की। थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

पिलर गिरने से मासूम की मौत, भाई गंभीर

निर्माणाधीन मकान में पिलर गिरने से वहां खेल रहे मासूम की जान चली गई। उसका भाई गंभीर रूप से घायल हो गया। भोगनीपुर के प्रह्लादपुर में बुधवार रात यह घटना हुई। गंभीर घायल को जिला अस्पताल से कानपुर रेफर कर दिया गया। बच्चों के खेलते समय धक्का लगने से पिलर गिरने की आशंका है।प्रह्लादपुर के किसान तिलक सिंह नायक मकान बनवा रहे हैं। बुधवार रात को उनका आठ वर्षीय पुत्र दिलखुश अपने पांच वर्षीय छोटे भाई अंकित के साथ खेल रहा था। उसी समय अचानक से पिलर भरभराकर गिर गया। इससे दोनों चपेट में आकर गंभीर घायल हो गए। स्वजन दौड़े और मलबा हटाकर दोनों को निकाला। दोनों को सीएचसी पुखरायां ले जाया गया जहां दिलखुश की मौत हो गई। वहीं अंकित को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया यहां से उसे कानपुर रेफर किया गया। तिलक व स्वजन का रोकर बुरा हाल हो गया। थाना प्रभारी भोगनीपुर राजेश सिंह ने बताया कि पिलर कमजोर था और शायद बच्चों के खेलते समय धक्का लगने से गिरा। कार्रवाई की जा रही है। 

Edited By: Abhishek Verma