आलोक शर्मा, कानपुर

प्रदेश के 80,796 राशन कोटेदारों के साथ बिजली उपभोक्ताओं के लिए अच्छी खबर। बिजली का बिल जमा करने के लिए उपभोक्ताओं को अब कलेक्शन सेंटर की लंबी लाइन में नहीं लगना होगा। वह अपने कोटेदार या क्षेत्रीय कोटेदार के पास बिजली बिल जमा कर सकेंगे। कोटेदारों की आय बढ़ाने के लिए शासन ई-पोस मशीनों से बिजली का बिल जमा करवाएगा। कोटेदारों को बिल जमा करने पर कमीशन मिलेगा। कमीशन भी सरकार ने तय कर दिया है हालांकि बिजली का बिल जमा करना या न करना यह कोटेदार की इच्छा पर निर्भर होगा। इस बाबत खाद्य एवं रसद विभाग में अपर आयुक्त अमित कुमार दुबे ने प्रदेश के सभी जिलापूर्ति अधिकारियों को आदेश जारी कर दिए हैं। साथ ही एक पत्र उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) को भी भेजा है।

--------

यह है आदेश

शासनादेश के मुताबिक कोटेदार जिन ई-पोस मशीनों से राशन वितरण करते हैं, उनसे उपभोक्ताओं का बिजली बिल भी जमा करेंगे। इसके लिए उन्हें जनपद स्तर पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। शासनादेश के तहत ओयसिस की ई-पोस मशीनों से ही बिल जमा होगा। बता दें, प्रदेश के 60 जिलों में ओयसिस की ई-पोस मशीनों से राशन वितरण हो रहा है जबकि कानपुर नगर समेत कई अन्य जिलों में इंटिग्रा की ई-पोस मशीनों से राशन वितरित किया जा रहा है। आपूर्ति अधिकारियों के मुताबिक इंटिग्रा को इसमें शामिल नहीं किया गया है। इस संबंध में आलाधिकारियों से बात हुई तो उन्होने इसे भी शामिल करने की बात कही है।

--------

0.25 फीसद मिलेगा कमीशन

कोटेदारों के लिए सरकार ने 10 हजार रुपये बिल जमा करने पर 17 रुपये का कमीशन तय किया है। हालांकि 11 हजार रुपये या इससे ज्यादा बिजली का बिल जमा करने पर कमीशन बढ़कर 27.50 रुपये हो जाएगा जिसमें 4.13 रुपये ओयसिस कंपनी को दिए जाएंगे।

---------

एक नजर में

- योजना स्वैच्छिक है।

- जमा किए जा रहे बिल के बराबर या अधिक धनराशि वॉलेट में होनी चाहिए।

- कोटेदारों को वॉलेट रिचार्ज कराना होगा।

- बिल जमा होने के बाद बिल मिलेगा।

- उपभोक्ताओं के मोबाइल पर जमा बिल का संदेश आएगा।

---------

खाद्यान्न पर बहुत कम है कमीशन

कोटेदारों को खाद्यान्न पर 12-15 रुपये प्रति कुंतल कमीशन मिलता है। आरएफसी के गोदाम से न्यूनतम 75 कुंतल और अधिकतम 200 कुंतल तक खाद्यान्न का उठान कोटेदार करते हैं। 15 रुपये कमीशन के हिसाब से जोड़े तो 75 कुंतल राशन उठाने वाले कोटेदार को प्रतिमाह 1125 रुपये की आय होती है जबकि 200 कुंतल राशन उठाने वाले कोटेदार को प्रतिमाह 3000 रुपये मिलते हैं।

--------

- 80,796 कोटेदार प्रदेश में

- 859 कोटेदार कानपुर नगर में

- 681 कोटेदार जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में

- 5.80 लाख बिजली उपभोक्ता कानपुर नगर में

--------

'बिजली बिल कोटेदारों से जमा कराने के निर्देश शासन से मिले हैं। जल्द ही कोटेदारों को प्रशिक्षण देकर इसकी शुरुआत कराई जाएगी। - अखिलेश कुमार श्रीवास्तव, जिलापूर्ति अधिकारी कानपुर नगर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप