मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कानपुर, जेएनएन। गंगा समागम के कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी पांच राज्यों के मुख्यमंत्री, नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा और अन्य अधिकारियों संग गंगा बैराज स्थित अटल घाट देखने जाएंगे। वह गंगा दर्शन के साथ ही बोट से गंगा की तरफ बंद हुए सीसामऊ नाले को भी देखने जा सकते हैं। इसे लेकर अफसरों ने तैयारी तेज कर दी है। घाटों के सुंदरीकरण के निर्देश भी जारी हो गए हैं।

कार्यक्रम को लेकर मंडलायुक्त सुभाषचंद्र शर्मा ने बुधवार को गंगा बैराज स्थित सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में बैठक की। उन्होंने अफसरों को आदेश दिए कि घाट के आस-पास सफाई व्यवस्था, उखड़ी सड़क और बंद लाइट को ठीक कराने के आदेश दिए। अफसरों आपस में सामंजस्य बनाकर समस्या का निस्तारण कराएं। जल निगम अफसरों को आदेश दिए कि नमामि गंगे के प्रोजेक्ट के दस्तावेज तैयार करके अध्ययन कर लें ताकि चल रहे प्रोजेक्ट के बारे में बताने में दिक्कत हो, साथ ही मौके पर चल रहे कामों की क्या स्थिति है इसको भी दिखवा लें। मंडलायुक्त ने अफसरों के साथ अटल घाट का निरीक्षण किया। प्रधानमंत्री के आगमन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी अफसरों में मंथन हुआ। इस दौरान आइजी मोहित अग्रवाल, जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत, एसएसपी अनंत देव आदि उपस्थित थे।

बनारस से आ सकती बोट

गंगा दर्शन के दौरान बनारस से बोट मंगाई जा सकती है। सुरक्षा के लिए घाट के आसपास एनडीआरएफ की टीम के अलावा गोताखोर, जलपुलिस के विशेषज्ञ तैनात रहेंगे।

ये भी दिए आदेश

- घाट तक गंगा जल रहे।

- सिंचाई विभाग के गेस्ट हाउस में पुताई कराई जाए।

- हाल में दो एसी लगवाए जाएं।

- परदे साफ कराकर लगवाए जाएं।

- अटल घाट के मोड़ पर रेलिंग लगाई जाए।

गंगा सफाई के प्रोजेक्ट

- 370 करोड़ रुपये से 34 वार्डों की सीवर लाइन की सफाई कराई जा रही है। मार्च 2020 तक काम पूरा होना है। - नमामि गंगे के तहत 63 करोड़ रुपये से सीसामऊ, म्योर मिल नाला, नवाबगंज और परमट नाला बंद कर दिए गया है। गुप्तार घाट नाला और परमियापुरवा नाला किया जा रहा है। जनवरी 2019 में काम पूरा होना चाहिए था।

- बिठूर में आठ करोड़ रुपये से सात नालों का बायोरेमिडेशन किया जा रहा है।

- टेनरी के दूषित पानी को ट्रीट करने के लिए 20 एमएलडी का सीईटीपी बनाए जाने की तैयारी हो रही है। काम शुरू होने पर दो साल में पूरा होना है।

- रानी घाट, सत्तीचौरा, गोलाघाट और डबका नाला बंद करने को लेकर अभी प्रोजेक्ट तैयार हो रहा है।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप