कानपुर, जेएनएन। एक ओर जहां लॉक डाउन के दौरान ड्यूटी पर तैनात कर्मयोद्धा पुलिसकर्मी सड़कों पर निकल रहे राहगीरों को समझाने का प्रयास कर रहे है। वहीं, पुलिस के सहयोगी एस-10 के (संभ्रांत) सदस्य लोगों से अभद्रता कर उनकी छवि धूमिल कर रहे हैं। ऐसा ही एक वीडियो मंगलवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें एक दिव्यांग को एस-10 के सदस्य रस्सी से बांधकर घसीटते और मारते हुए दिखाई दे रहे हैं।

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने पर अधिकारियों ने लिया संज्ञान

लॉक डाउन के दौरान शहर के चौराहों पर पुलिस के साथ एस-10 और मुखबिर खड़े होकर चेङ्क्षकग कर रहे हैं। इस दौरान जहां पुलिस राहगीरों को सख्ती से समझा रही है। वहीं, पुलिस के मुखबिर और एस-10 के सदस्य पुरुषों और महिलाओं से अभद्रता और गाली-गलौज कर रहे है। ऐसी ही एक घटना मंगलवार को उस वक्त देखने को मिली जब चकेरी के आदर्श नगर में एक दिव्यांग को खांसी आने की सूचना पर पुलिस के साथ एस-10 के सदस्य एक कार में बैठकर पहुंचे। इस दौरान एस-10 के सदस्य ने दिव्यांग को रस्सी से बांध दिया। साथ ही उसे रस्सी से घसीटते हुए ले गए और लाठियों से पीटा। क्षेत्रीय लोगों के अनुसार वीडियो में दिव्यांग को पीटने वाला शख्स चकेरी चौकी का एस-10 सदस्य अभिषेक बताया जा रहा है। जो अपने साथियों के साथ दिव्यांग की पिटाई करते हुए दिखाई दे रहा है। सीओ कैंट आरके चतुर्वेदी ने बताया कि वीडियो की जांच करवाई जाएगी। अगर कोई भी व्यक्ति दोषी पाया जाएगा उस पर कार्रवाई होगी।  

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस