जालौन, [जागरण स्पेशल]। PM Modi Praises Old Women In Man Ki Bat मां का ममत्व बेटे पर हरदम उमड़ता रहता है। भले, बेटा किसी भी उम्र के पड़ाव पर हो। कुछ ऐसा ही स्नेह इस समय जालौन की 109 वर्षीय राम दुलैया के अंदर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर है। वो उन्हें देश की हर मां का बेटा बताकर उनकी तारीफ के कसीदे पढ़ रहीं हैं। कहती हैं कि प्रधानमंत्री अपनी मां को भी बहुत चाहते हैं। गुजरात जाकर अक्सर उनके पास बैठकर बाते करते हैं। देश सेवा के लिए उनसे सीख लेते हैं। वो देश की हर मां को स्नेह करते हैं। समाज को इससे सीख लेने की जरूरत है। बेटों को मां की सेवा से पीछे नहीं हटना चाहिए। उम्र के 109 साल के पड़ाव पर पहुंचीं राम दुलैया कुछ दिन पहले कोरोना का टीका लगवाकर चर्चा में आई थीं और अब प्रधानमंत्री मोदी के 'मन की बात' में उनका नाम लेने से फिर सुर्खियों में हैं।  

जालौन तहसील क्षेत्र के छोटे से गांव वीरपुरा निवासी नाथूराम की 109 वर्षीय पत्नी राम दुलैया को 28 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी ने 'मन की बात' में बुजुर्ग मां कहकर पुकारा। इसके बाद से उनके गांव से लेकर रिश्तेदारों तक में खुशी का माहौल है। उनका कहना है कि 'दैनिक जागरण' में खबर छपने के बाद ही वह चर्चा में आईं। अब प्रधानमंत्री उनका नाम लेकर लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। ये बड़ी बात है। 

गांव वालों ने देखी फोटो तो दौड़े बधाई देने: राम दुलैया बताती हैं, गांव के लोग दूरदर्शन पर 'मन की बातÓ कार्यक्रम देख रहे थे, तभी उनका नाम प्रधानमंत्री मोदी ने लिया। उन्होंने कहा कि यूपी के जौनपुर में 109 वर्षीय बुजुर्ग मां राम दुलैया जी ने कोरोना का टीका लगवाया है। इस पर लोगों को विश्वास नहीं हुआ। इसी बीच टीवी स्क्रीन पर उनका फोटो दिखा तो हर कोई जान गया कि प्रधानमंत्री उनका ही नाम ले रहे हैं। इस पर उनके घर के बाहर बधाई देने वालों का तांता लग गया।  

क्योलारी स्थित मायके में भी खुशियां: राम दुलैया के बड़े पुत्र 85 वर्षीय मुलायम सिंह और 60 वर्षीय छोटे पुत्र गुलाब सिंह ने बताया कि उनकी ननिहाल यानी मां का मायका रेंढऱ थानाक्षेत्र के ग्राम क्योलारी में है। वहां भी लोगों ने खुशी व्यक्त की है। 

हर कोई लगवाए वैक्सीन: राम दुलैया कहती हैं, प्रधानमंत्री बेहद अच्छा काम कर रहे हैं। कोरोना से बचने के लिए सभी को वैक्सीन जरूर लगवानी चाहिए। उन्होंने खुद के साथ ही अपने दोनों बेटों और बहुओं रामदुलारी व विमला देवी को भी कोरोना की वैक्सीन लगवाई है। अब 18 अप्रैल को दूसरी डोज लेंगी।  

राम दुलैया से पहले एक और वृद्धा आईं थीं चर्चा में: प्रधानमंत्री को बेटा मानकर आशीर्वाद देने वाले हाथों में एक हाथ यूपी की ही मैनपुरी निवासी बिट्टन देवी का भी था। जिन्होंने बहू और बेटे की प्रताड़ना से तंग आकर अपनी संपत्ति के साढ़े 12 बीघा जमीन को पीएम मोदी के नाम करने का फैसला लिया था। तब वृद्धा ने बताया था कि प्रधानमंत्री मोदी उन्हें वेतन देते हैं। उनके द्वारा दिए पैसे से ही गुजारा चलता है। इसलिए वो अपनी संपत्ति पीएम मोदी को ही देना चाहती हैं। हालांकि जालौन की राम दुलैया हों या फिर मैनपुरी की बिट्टन देवी, प्रधानमंत्री को बेटा मानकर आशीर्वाद देने के लिए हर मां का ममत्व उमड़ ही पड़ता है।